Women Navy Officers

कोच्चि/नयी दिल्ली. लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से भारतीय नौसेना ने पहली बार दो महिला अधिकारियों को अग्रिम मोर्चो पर तैनात युद्धपोत पर मौजूद हेलीकॉप्टर के परिचालन के लिए चुना है जो अल्पकालिक और दीर्घकालिक मिशन पर अपनी सेवाएं देंगी। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि सब लेफ्टिनेंट कुमुदिनी त्यागी और सब लेफ्टिनेंट रीति सिंह ने हेलीकॉप्टर वर्ग में ‘ऑब्जर्वर’ (हवाई रणनीतिकार) का पाठ्यक्रम पूरा किया है और उन्हें चालक दल सदस्य के तौर पर युद्धपोत पर तैनात किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, फ्रांस की नौसेनाओं की तरह भारतीय नौसेना को अभी युद्धपोत पर महिला अधिकारियों की तैनाती करनी है। भारतीय नौसेना ने बयान में कहा, “भारतीय नौसेना के उ्ड्डयन इतिहास में एक और पहली बार हुआ है। दो महिला अधिकारियों को हेलीकॉप्टर वर्ग में हवाई रणनीतिकार के तौर पर शामिल होने के लिए चुना गया है। यह हवाई युद्ध में यह महिलाओं की पहली टीम होगी जो युद्धपोत से परिचालन करेंगी।”

हवाई रणनीतिकार के तौर पर दोनों अधिकारी उस टीम का हिस्सा होंगी जो नौसेना में युद्धपोत पर तैनात हेलीकॉप्टर के विभिन्न लड़ाकू और रणनीतिक पहलुओं के परिचालन को देखती है जब उनकी तैनाती मिशन पर होती है। नौसेना ने बताया कि त्यागी और सिंह नौसेना के 17 अधिकारियों के समूह का हिस्सा हैं जिन्हें आईएनएस गरुड़ पर आज हुए समारोह में ‘ऑब्जर्वर’ के तौर पर पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद ‘विंग’ से सम्मानित किया गया।

इस समूह में नौसेना की कुल चार महिला अधिकारी और भारतीय तटरक्षक बल के तीन अधिकारी शामिल हैं। नौसेना के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने पहचान गोपनीय रखते हुए कहा कि दो महिला अधिकारियों की नयी भूमिका के लिए चुनाव बहुत महत्वपूर्ण है और यह अग्रिम मोर्चे पर तैनात युद्धपोत की महिला कमांडर होने के पूर्व का कदम है। नौसेना बेडे़ में मौजूद टैंकरों पर महिला कर्मियों को रणनीतिक और चिकित्सा शाखा में तैनात करती है लेकिन यह पहली बार होगा जब उन्हें विध्वंसक पोत या युद्धपोत पर तैनात किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल नौसेना ने दो महिला पायलट की तैनाती डोर्नियर विमान बेडे़ के चालक के तौर पर की गई थी। समुद्रीय निगरानी करने वाले पी-8आई बेड़े में भी महिला अधिकारी तैनात हैं। हालांकि, डोर्नियर और पी-8आई तट पर बनी हवाई पट्टी से उड़ान भरते हैं।

सूत्रों ने बताया कि सब लेफ्टिनेंट त्यागी और सब लेफ्टिनेंट सिंह नौसेना के समुद्री हेलीकॉप्टर एमएच-60 सीहॉक के तकनीकी दल का हिस्सा हो सकती हैं। भारत अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन से भारतीय नौसेना के लिए 2.6 अरब डॉलर की लागत से 24 एमएच-60 रोमियो हेलीकॉप्टर खरीद रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि नौसेना महिला अधिकारियों को अपने युद्धपोत पर विभिन्न भूमिका में कार्य करने की अनुमति देगा और उचित सुविधा नवनिर्मित पोतों पर उनके लिए बनाई जाएगी। समारोह की अध्यक्षता रियर एडमिरल एंटनी जॉर्ज ने की, जो चीफ स्टाफ ऑफिसर (प्रशिक्षण) भी हैं। जॉर्ज ने ‘ऑब्जर्वर’ का पाठ्यक्रम पूरा करने वाले अधिकारियों को सम्मानित किया और प्रतिष्ठित विंग दिया। इसके साथ ही कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ने छह अधिकारियों (महिला अधिकारी सहित नौसेना के पांच अधिकारी और एक तटरक्षक बल का अधिकारी) को सफलतापूर्वक योग्य नेविगेशन प्रशिक्षक पाठ्यक्रम पूरा करने पर प्रशिक्षक बैच से सम्मानित किया।

रियर एडमिरल एंटनी ने इस तथ्य को रेखांकित किया कि यह ऐतिहासिक मौका है जब पहली बार महिलाओं को हेलीकॉप्टर का प्रशिक्षण दिया गया है जिससे अंतत: अग्रिम मोर्चों पर मौजूद युद्धपोतों पर उनकी तैनाती का रास्ता साफ होगा। बयान के मुताबिक 91 वें नियमित पाठ्यक्रम में 22वें एसएससी ‘ऑब्जर्वर’ पाठ्यक्रम में हवाई नेविगेशन, उड़ान की प्रक्रिया, हवाईयुद्ध की रणनीति, पनडुब्बी रोधी युद्ध और विमान के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों संबंधी प्रशिक्षण दिया गया।