Eknath Shinde, Uddhav Thackeray
File Photo

    मुंबईः भले ही करीब 10 दिनों के उठापठक के बाद महाराष्ट्र शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने नए मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण कर नए सीएम बन गए हों लेकिन, अब भी उनके सामने कई चोनौतियां बरकरार हैं। हिंदुत्व के नाम पर शिवसेना से शिवसेना बालासाहब पार्टी को आगे बढ़ाने के लिए कई अब भी कई अग्निपरीक्षा बाकी है। खबर के मुताबिक बीती रात करीब सुबह 3 बजे एकनाथ शिंदे गोवा के होटल में ठहरे विधायकों से मिलने पहुंचे हैं। जहां आगे की रणनीति पर विस्तार से चर्चा हुई है। सभी विधायक मुंबई रवाना होने के साथ बागी ग्रुप के प्रवक्ता दीपक केसर प्रेसवार्ता के जरिए आगे की जानकारी देंगे।

    गौरतलब है कि, एकनाथ शिंदे ने अपने पक्ष में 39 विधायकों के होने का दावा किया था। जिसके बाद शिवसेना की तरफ से भी दावा किया गया था कि, उसमें कुछ विधायक उद्धव गुट के हैं। अब शपथ विधि के बाद फ्लोर टेस्ट होगा। कल 3 जुलाई से महाराष्ट्र विधानसभा का सत्र बुलाया गया है। इस बीच विधानसभा के इस सत्र में शिवसेना के बागी गुट के नेता भी पहुंचेंगे। जिसमें आमने-सामने दोनों ग्रुप के दावें साफ हो जाएगें।

    इसी बीच 2 दिवसीय विधानसभा सत्र की कल से शुरुआत होगी। नाना पाटोले के विधानसभा स्पीकर पद छोड़ने के बाद यह पद खाली है। वहीं  बीजेपी विधायक राहुल नार्वेकर ने विधानसभा अध्यक्ष चुनाव के लिए विधान भवन में नामांकन दाखिल किया है। इन सभी प्रक्रियाओं के साथ-साथ अब 4 जुलाई शिंदे सरकार को अपना पूर्ण बहुमत साबित करना पड़ेगा। ऐसे में जबतक सरकार के गठन के सभी प्रक्रिया पूर्ण नही हो जाते तब अलग-अलग चुनौतियों को सामना करना ही पड़ेगा।