सरकार की घोषणा, 25 दिसंबर के दिन किसानों को देंगे 18 हजार करोड़ रुपए

नई दिल्ली: कृषि कानूनों (Agriculture Bill) को लेकर किसानों (Farmers) और केंद्र सरकार (Central Government) के बीच गतिरोध बना हुआ है. एक ओर सरकार बातचीत के जरिए आंदोलन समाप्त करने की कोशिश में लगे हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. इसी बीच एक बार फिर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Agriculture Minister Narendra Singh Tomar) ने आश्वासन दिया एमएसपी (MSP) और एपीएमसी (APMC) समाप्त नहीं होगा, साथ ही 25 दिसंबर को किसानों के खातों में 18 हजार करोड़ रुपए भेजने का ऐलान किया। 

योजनाओं से भरेंगे खाई

कृषि मंत्री तोमर ने कहा, “विभिन्न योजनाओं के माध्यम से, हम कृषि क्षेत्र के सभी अंतरालों को भरेंगे, जिससे किसानों को लाभ होगा और उन्हें सही कीमत मिल सकेगी। कोरोना महामारी के दौरान, हमने देखा कि खेती और कृषि से संबंधित कार्य प्रभावित नहीं हुए.”

सुशासन दिवस के मौके पर किसानों को तोहफ़ा

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “25 दिसंबर को अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) जी का जन्मदिन भारत सरकार सुशासन दिवस (Good Governance Day) के रूप में पूरे देश में मनाती है। इस बार सुशासन दिवस के मौके पर पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 9 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में 18,000 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे।”

किसानों को दिए एक लाख करोड़ 

तोमर ने कहा, “किसान क्रेडिट कार्ड का विषय वाजपेयी जी के समय में आया था और उस समय यह शुरू हुआ था, अभी तक 6 लाख करोड़ रुपये का ऋण प्रवाह कृषि क्षेत्र में होता था, मोदी जी ने इसे बढ़ाकर 15 लाख करोड़ रुपये किया।” 

उन्होंने आगे कहा, “मैं बैंकों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं, क्योंकि उन्होंने महामारी के दौरान किसान क्रेडिट कार्ड कवर के तहत 1 करोड़ से अधिक किसानों को लाया और पिछले 8 महीनों में किसानों को 1 लाख करोड़ रुपये दिए। हमने कुछ सुधार किए हैं और भविष्य में और अधिक लाएंगे।”

समाधान की उम्मीद 

कृषि कानूनों को लेकर चल रहे आंदोलन पर कृषि मंत्री ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि किसान संघ हमारे अनुरोध पर चर्चा करेंगे। वे सरकार के प्रस्ताव से जो भी जोड़ना और घटाना चाहते हैं, उन्हें हमें बताना चाहिए। हम उनकी सुविधा के समय और दिनांक पर चर्चा के लिए तैयार हैं। मुझे समाधान की उम्मीद है।”