vaccine
File Photo

    नई दिल्ली: समाचार एजेंसी एएनआई  के अनुसार, केंद्र सरकार (Central Government) ने विदेश यात्रा करने वाले व्यक्तियों के लिए कोविड​​-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक (Second Dose) और बूस्टर खुराक (Booster Dose) के बीच के अंतर को कम से कम 90 दिनों तक कम करने का फैसला किया है। सूत्रों ने यह जानकारी दी।  उल्लेखनीय है कि, वर्तमान में दूसरे कोविड डोज और बूस्टर डोज के बीच का अंतर नौ महीने का है। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से अभी इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

    सूत्रों के अनुसार, विदेशी यात्रियों के लिए बूस्टर डोज के मानदंडों में ढील देने का निर्णय राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) की सिफारिशों पर आधारित था। इससे  पहले टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी परामर्श समूह (एनटीएजीआई) ने सुझाव दिया है कि जिन लोगों को विदेश यात्रा करने की जरूरत है वह कोविड टीके की बूस्टर खुराक नौ महीने की निर्धारित प्रतीक्षा अवधि से पहले भी ले सकते हैं।

    इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और अन्य वैश्विक शोध संस्थानों ने कई अध्ययनों में कहा है कि, एक वैक्सीन प्राप्तकर्ता को पहला डोज मिलने और दोनों खुराक के साथ छह महीने पूरे करने के बाद एंटीबॉडी का लेवल काम हो जाता है। वहीं, बूस्टर डोज देने से रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ जाती है।

    देश में कोरोना के 2,897 नए मामले 

    भारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,897 नए मामले सामने आने से देश में कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 4,31,10,586 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 19,494 रह गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, भारत में संक्रमण से 54 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 5,24,157 हो गई है। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 19,494 हो गई है, जो कुल मामलों का 0.05 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 143 की कमी दर्ज की गई। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.74 प्रतिशत है।