Sachin Pilot
File Photo

    लखनऊ: राजस्थान के पूर्व उप मुख्‍यमंत्री एवं कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने रविवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर आजादी के संघर्ष में योगदान देने वाले अखबार ‘नेशनल हेराल्ड’ को (National Herald Case) दबाने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि कांग्रेस सदस्य इस मामले को लेकर पूरे देश में सत्‍याग्रह करेंगे।

    सचिन पायलट ने यहां प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस फर्जी और षड्यंत्रकारी मामले को लेकर पूरे देश में कांग्रेसजनों में आक्रोश का माहौल व्याप्त है और सोमवार सुबह कांग्रेस पार्टी के समस्त सांसद, विधायक, पूर्व सांसद/विधायक, कार्यकारिणी के सदस्य, प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारीगण कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ सत्याग्रह कार्यक्रम के तहत दिल्‍ली में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दफ्तर तक पदयात्रा करेंगे।

    उन्होंने कहा कि इसके साथ ही उत्तर प्रदेश समेत देशभर के सभी प्रदेश मुख्यालयों पर भी सोमवार को सत्याग्रह कार्यक्रम चलाया जायेगा। उन्‍होंने कहा कि ईडी का नोटिस सोनिया गांधी और राहुल गांधी को राजनीतिक दुर्भावना के तहत अपमानित करने का एक षड्यंत्र है।

    पायलट ने आरोप लगाया कि आजादी के संघर्ष में योगदान देने वाले अखबार ‘नेशनल हेराल्ड’ से अंग्रेजों को इतना खतरा महसूस हुआ कि ब्रिटिश हुकूमत ने कांग्रेस द्वारा चलाये गये ‘‘भारत छोड़ो‘‘ आंदोलन के समय 1942 से 1945 तक इस अखबार को बंद करवा दिया था और आज फिर उस समय की अंग्रेजी हुकूमत का समर्थन करने वाली विचारधारा ‘आज़ादी के आंदोलन की इस आवाज़’ को दबाने का घिनौना षड्यंत्र कर रही है।

    उन्‍होंने आरोप लगाया कि इस षड्यंत्र के मुखिया स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उनका हथियार है। पायलट ने आरोप लगाया कि नेशनल हेराल्ड मामले में अब प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व राहुल गांधी को ईडी से नोटिस जारी करवाया है। उन्‍होंने कहा कि आजादी के आंदोलन की आवाज नेशनल हेराल्ड समाचार पत्र और कांग्रेस अलग नहीं है।

    कांग्रेस नेता ने दावा किया कि देश को गुमराह करने के लिए आए दिन मुद्दों को भटकाने की राजनीति में माहिर मोदी सरकार अब बदले की भावना में अंधी हो गई है, जिस मानसिकता ने अंग्रेजों का साथ दिया था, आज ‘गुलामी की प्रतीक’ वो मानसिकता ‘‘आज़ादी की कुर्बानियों’‘ से प्रतिशोध ले रही है। पायलट ने कहा कि इस बार उन्होंने एक नयी ‘‘कायराना व डरपोक साजिश’‘ की है। पायलट ने ईडी के भेजे गये नोटिस को ‘फर्जी’ बताते हुए कहा कि हम डरेंगे नहीं, झुकेंगे नहीं, सीना ठोक कर लड़ेंगे। (एजेंसी)