CYCLONE
साइक्लोन मिचौंग

Loading

नई दिल्ली/नेल्लोर: अब से कुछ देर पहले बंगाल की खाड़ी से बीते 2 दिसंबर को उठा साइक्लोन मिचौंग आंध्र प्रदेश में दस्तक दे चूका है। मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, ठीक दोपहर 1 बजे यह आंध्र प्रदेश के बापटला में नेल्लोर-मछलीपट्‌टनम के बीच लैंडफॉल कर गया घी। हवाएं 90 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही हैं, जो 110 KMPH तक पहुंच सकती हैं। इस तूफान का असर अगले 3 घंटे तक रहने का अनुमान है।

मामले पर IMD ने अपने बुलेटिन के अनुसार, दक्षिण आंध्र प्रदेश और निकटवर्ती उत्तरी तमिलनाडु तटों के पास पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर गंभीर चक्रवाती तूफान ‘मिगजॉम’ पिछले छह घंटों में 7किलोमीटर/घंटे की गति के साथ उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ चूका था।

फिलहाल इस साइक्लोन को लेकर आंध्र प्रदेश में हाई अलर्ट है। राज्य सरकार ने तिरुपति, नेल्लोर, प्रकाशम, बापटला, कृष्णा, पश्चिम गोदावरी, कोनसीमा और काकीनाड़ा जिले में रेड अलर्ट जारी किया है। 9 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित इलाकों में भेजा जा चूका है। इन 8 जिलों में NDRF और SDRF की 5-5 टीमें तैनात हैं। वहीं कोस्ट गार्ड, आर्मी और नेवी के जहाज और एयरक्राफ्ट स्टैंडबाय पर हैं।

हालाँकि तमिलनाडु में आज बारिश में कमी जरुर दिखी है। हालांकि चेन्नई शहर बारिश की वजह से पूरी तरह डूब गया है। बीते रविवार से अब तक एक बच्चे समेत 9 लोगों की मौत हो चुकी है। इधर 16 घंटे से बंद चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर फ्लाइट ऑपरेशन शुरू हो चूका है। बीते 4 नवंबर को रनवे पर पानी भरने की वजह से करीब 70 फ्लाइट्स रद्द करनी पड़ी थीं। 30 फ्लाइट्स बेंगलुरु डायवर्ट किए गए थे।

गौरतलब है की भारतीय समयानुसार बीते सोमवार देर रात ढाई बजे नेल्लोर से 20 किलोमीटर उत्तर-उत्तर पूर्व, चेन्नई से 170 किलोमीटर उत्तर, बापटला से 150 किलोमीटर दक्षिण और मछलीपट्टनम से 210 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित था। IMD के अनुसार तूफान के उत्तर की ओर लगभग समानांतर और दक्षिण आंध्र प्रदेश तट के करीब बढ़ने तथा नेल्लोर एवं मछलीपट्टनम के बीच बापटला के पास दक्षिण आंध्र प्रदेश के तट से मंगलवार पूर्वाह्न को गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में गुजरने की संभावना है। इस दौरान 90-100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का भी अनुमान है।