RAIN IN JALGAON

    जलगांव. जिले में  बारिश के कारण केले की फसल (Banana Crop) को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा है। तेज आंधी, तूफान और बारिश के कारण केले की फसल खेतों में धराशाई हो गई हैं। मुक्ताईनगर  तहसील (Muktainagar Tehsil) के उचंदा और अन्य गांवों में भारी नुकसान हुआ है।

    विधायक चंद्रकांत पाटिल (MLA Chandrakant Patil) ने जिला प्रशासन (District Administration) से एक समान नुकसान का पंचनामा (Panchnama) करने की मांग की है। इसके चलते पालक मंत्री गुलाबराव पाटिल ने जिला प्रशासन को तत्काल पंचनामा कराने का आदेश दिया।

    कई घरों और सड़कों पर गिरे पेड़ 

    पिछले साल कोरोना के प्रकोप के कारण हर जगह लॉकडाउन होने से किसान आर्थिक संकट में थे। गत वर्ष भी तेज हवाओं के कारण केले की फसल को नुकसान पहुंचा था।  नतीजतन, कृषि उपज खेत में क्षतिग्रस्त हो गई थी और लाखों रुपए का नुकसान हुआ था।  इस साल सूखे की स्थिति पर काबू पाने के लिए मुक्ताईनगर और रावेर तालुका के किसानों ने केले की खेती की।  इस साल गुरुवार की शाम अचानक आंधी आई।  एक से डेढ़ घंटे तक चली विनाशकारी हवाओं और मूसलाधार बारिश ने केले की फसल को पूरी तरह से तबाह कर दिया।

    एक समान पंचनामा करे राजस्व विभाग : पाटिल 

    विधायक चंद्रकांत पाटिल ने मुक्ताईनगर तालुका और रावेर तालुका के किसानों को फोन कर नुकसान की जानकारी ली। फसलों के साथ-साथ घरों  और सड़कों पर पेड़ धराशाई हो गए। अनेक घरों की छत और  टीनशेड हवा में ताश के पत्ते की तरह उड़ गए। उन्होंने राजस्व विभाग को एक समान पंचनामा करने के निर्देश दिए। किसानों ने कड़े प्रतिबंध और लॉकडाउन में बड़ी मुश्किल से केले की फसल लगाई थी। वे  इस उम्मीद में खुश थे कि केले के दाम बेहतर होंगे। हालांकि, व्यापारी तालाबंदी के कारणों का हवाला देते हुए कम कीमतों में मांग रहे थे। इसी बीच चक्रवात और बारिश से केले की फसल को समतल कर दिया। किसान फिर से आर्थिक संकट में  गिर गए। 

    गांवों में रातभर बिजली गुल रही

    मुक्ताईनगर और रावेर तालुका में गांवों के बिजली के खंभों पर पेड़ गिर गए। सैकड़ों गांवों में रातभर बिजली गुल रही। शुक्रवार दिनभर बिजली विभाग टूटे तारों और खंभों को दुरुस्त करने में लगा रहा।

    रोहिणी खड़से ने किया निरीक्षण

    मेंढोलदे गांव में तूफान ने अनेक घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। जिला बैंक की अध्यक्ष रोहिणी खड़से ने क्षतिग्रस्त मकानों का निरीक्षण किया और जिलाधिकारी से संपर्क कर राजस्व प्रशासन से तत्काल पंचनामा कराने का अनुरोध किया। इस अवसर पर  विनोद तराल, तालुका अध्यक्ष यूडी पाटिल, संदीप देशमुख, माफदा तालुकाध्यक्ष रामभाऊ पाटिल, बाजार समिति संचालक कैलास पाटिल, जावजी धनगर, भैय्या पाटिल, गुड्डू पाटिल, सद्दाम शेख आदि मौजूद थे।