इस अस्पताल में अब सामान्य मरीज भी करा सकेंगे इलाज

  • पहले ही दिन सैकड़ों मरीजों ने चिकित्सा सुविधाओं का लिया लाभ

जलगांव. कोरोना महामारी (Corona epidemic) के चलते पिछले आठ महीनों से जिला अस्पताल (District Hospital) सामान्य मरीजों के लिए बंद कर दिया गया था। गुरुवार से एक बार फिर से ज़िला अस्पताल आम मरीजों की लिए खोला गया है। कोरोना मरीजों (Corona patients) की संख्या कम होते ही ज़िला प्रशासन (District administration) ने एक बार फिर से ज़िला अस्पताल आम मरीजों की सेवा के लिए शुरू कर दिया है।

गुरुवार 17 दिसंबर को सुबह 8:30 बजे निंबोरा गांव की रत्नाबाई एकनाथ भील (40) नामक महिला का पहला केस पेपर निकालकर (OPD) शुरू  हुईं। कोरोना की वैश्विक महामारी के कारण 5 अप्रैल, 2020 से सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल को कोविड अस्पताल (Covid Hospital) के रूप में घोषित किया गया था।

पर्याप्त मात्रा में दवाओं का स्टाक

कोरोना के अलावा चिकित्सा सेवाएं गुरुवार से शुरू करने की घोषणा जिलाधिकारी तथा आपदा प्रबंधन प्राधिकरण अधिकारी अभिजीत राउत ने बुधवार को की थी। इस घोषणा के अनुसार अस्पताल में कोरोना के अलावा अन्य रोगियों का उपचार शुरू हो गया है। अस्पताल में दवाओं का स्टॉक भी प्रयाप्त मात्रा में है। सवेरे साढ़े 8 बजे से दोपहर साढ़े 12 बजे तक अस्पताल में स्त्री रोग, बाल रोग, दुर्घटना, विषाक्तता, चोट, सर्दी-खांसी, बुखार, आंखों की जांच, नाक-कान-गला, टीकाकरण, मधुमेह, हृदय रोग, दंत चिकित्सा, गुर्दे की बीमारी, पशु के काटने, सोनोग्राफी, ऑस्टियोपोरोसिस, मलेरिया, डेंगू, फेफड़े संबंधित बीमारियों के मरीज इलाज के लिए आए।

15 मिनट में मिल रही रिपोर्ट

इसके साथ ही ब्लड, यूरिन टेस्ट करवाने के लिए भी लोग पहुंचे। रक्त और मूत्र परीक्षण भी अद्यतन किए जाने से इसकी रिपोर्ट 15 मिनट के भीतर प्राप्त की जा रही है। पहले दिन 79 पुरुषों और 54 महिलाओं सहित कुल 133 रोगियों ने ओपीडी में चिकित्सा सेवाओं का लाभ उठाया। अस्पताल प्रशासन ने नागरिकों से ज़िला अस्पताल की विभिन्न चिकित्सा सेवा का लाभ उठाने की अपील की है।