कहीं आप को तो नहीं खांसी-जुकाम? क्यों होती है  ”कोरोना” से सांस लेने में दिक्कत

देश-विदेश में में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ रही है रही है। दुनिया में अब तक साढ़े 8 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। आपको बता दे कि संक्रमित व्यक्ति में कोरोना वायरस के

देश-विदेश में में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ रही है रही है। दुनिया में अब तक साढ़े 8 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। आपको बता दे कि संक्रमित व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण जल्द दिखाई नहीं देते। इस वजह से कोरोना वायरस को पहचानना मुश्किल हो गया है।  रिपार्ट के अनुसार लोगों में यह वायरस आम  फ्लू के मुकाबले 3 गुना अधिक तेजी से फैलता है। तो आइए जानते है कोरोना वायरस के लक्षण के बारे में … 

कोरोना वायरस का आम लक्षण बुखार : 

कोरोना वायरस  संक्रमित व्यक्ति को तेज बुखार होता है शरीर का तापमान एकदम से बढ़ जाता है। साथ की सुखी खांसी और जुखाम होता है। मरीज जोड़ो के दर्द से  परेशान रहता है, कुछ मामलो में गले पर सूजन आ  जाता है।  

सांस लेने में तकलीफ: 

संक्रमित व्यक्ति को पांचवे दिन से साँस लेने लेने  तकलीफ होने लगती है। बुजुर्गों में यह वायरस अधिक प्रभावित होता है, यदि कोई व्यक्ति पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त है तो उनपर कोरोना का असर जल्द दिखने लगता है। जैसे-जैसे दिन बीतते जाता है कोरोना से सांस लेने में तकलीफ बढ़ने लगती है। 

फेफड़ों में बढ़ता है बलगम:

संक्रमित व्यक्ति को 1  हफ्ते बाद से रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम से परेशानियां बढ़ने लगती है। व्यक्ति के  फेफड़ों में बलगम (म्यूकस) बढ़ने से फेफड़े ब्लॉक होने लगते है जिससे सांस लेने  में समस्या होती है, और सीने दर्द बढ़ जाता है। वायरस के लक्षण 2 से 10 दिनों में दिखने लगते है।