File Photo
File Photo

    -सीमा कुमारी

    मौजूदा समय में हर कोई अपना ज्यादातर समय घर से बाहर बिता रहा है। ऐसे में फास्ट फूड और बाहर का खाना लोगों के दिनचर्या का अहम् हिस्सा बन चुका है। आजकल पिज्जा,बर्गर, नूडल्स लोगों की पसंद और जरूरत दोनों की बनती जा रही है। इन्हीं फास्ट फूड्स में से एक मोमोज (Momos) वर्तमान समय में हर किसी की पसंद बना हुआ है। ऑफिस से निकलकर या दोस्तों के साथ आउटिंग के दौरान लगभग सभी इसे खाते नजर आते हैं।

    लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिन मोमोज को आप चटकारे लेकर शौक से खाते हैं, वही मोमोज आपकी सेहत के लिए काफी हानिकारक हो सकते हैं। सिर्फ मोमोज ही नहीं बल्कि उसके साथ मिलने वाली लाल चटनी भी आपकी सेहत को काफी नुकसान पहुंचा सकती है। तो आइए  जानें मोमोज लवर्स को इससे होने वाले नुकसान के बारे में –

    हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, डायबिटीज के मरीज के लिए मोमोज का सेवन नुकसानदायक हो सकता है। मोमोज को सॉफ्ट बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले पदार्थ पैंक्रियास के लिए काफी हानिकारक होते हैं। ऐसे में पैंक्रियास को नुकसान होने पर इन्सुलिन हार्मोन का सिक्रेशन सही तरीके से नहीं हो पाता, जिससे लोगों में डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। ज्यादा मोमोज खाने वालों में डायबिटीज का खतरा कई गुना तक बढ़ जाता है।

    नॉन-वेज मोमोज के शौकीन लोग बहुत चाव से मोमो खाते है। पर उसमें फिल किए गए चिकन या मटन की क्वालिटी अकसर खराब होती है। जो आपकी सेहत पर बुरा असर डाल सकती है।

    मोमोज के साथ अक्सर तीखी-लाल चटनी भी दी जाती है, जिसे लोग मोमोज के साथ खाना काफी पसंद करते हैं। लेकिन इस चटनी में लाल मिर्च की मात्रा काफी ज्यादा होती है, जो आपकी सेहत के लिए किसी जहर से कम नहीं है। ज्यादा तीखा खाने से पाइल्स आदि की दिक्कत भी हो सकती है।

    मोमोज को बनाने के मैदा इस्तेमाल किया जाता है। मैदे में भारी मात्रा में स्टार्च पाया जाता है।  जिसे खाने से मोटापा बढ़ता है। ज्‍यादा मैदा खाने से कोलेस्ट्रॉल और ब्‍लड में ट्राइग्‍लीसराइड (बुरा कोलेस्ट्रॉल) का स्‍तर बढ़ जाता है।