Keep such an idol of Ganesh ji in this corner of the house, the sleeping fortune will open

वास्तु शास्त्र में गणेश जी को घर में रखने के कुछ विशेष नियम बताए गए हैं।

    -सीमा कुमारी

    हिंदू धर्म में विघ्नहर्ता गणेश जी को सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। हर किसी शुभ काम को करने से पहले भगवान गणेश जी की पूजा अवश्य की जाती है। गणेश भगवान की कृपा पाने के लिए उन्हें घर में एक उचित स्थान देना भी बेहद जरुरी है। इससे सदैव आपके घर में सुख-समृद्धि बनी रहेगी। विघ्नहर्ता गणेश भी स्वंय उस घर में विराजमान रहते हैं यहां पर उनकी विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। वास्तु शास्त्र में गणेश जी को घर में रखने के कुछ विशेष नियम बताए गए हैं। तो आइए जानें उन नियमों के बारे में-

    • ज्योतिष-शास्त्र के मुताबिक, घर में गणेश भगवान जी की मूर्ति रखने के लिए उत्तर पूर्व कोणा सबसे अच्छा माना जाता है। इस दिशा में गणेश जी की मूर्ति रखने से उनकी घर में कृपा दृष्टि बनी रहेगी।
    • गणेश की ऐसी तस्वीर लगाएं जिसमें उनकी सूडं बाएं हाथ की ओर मूड़ी हुई हो। तस्वीर में मोदक और लडडू भी जरुर होना चाहिए।
    • वास्तु के अनुसार,घर के मुख्य द्वार पर गणेश की प्रतिमा या फिर चित्र लगाने से घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है। नेगेटिव एनर्जी घर की दूर हो जाती है। प्रतिमा में उनका मुंह अंदर की ओर हो।
    • ज्योतिषियों के मुताबिक, गणेश की प्रतिमा ऐसी जगह पर न लगाएं जहां पर आप कूड़ा-कचरा या फिर टॉयलेट हो। इसके अलावा, दक्षिण दिशा में भी प्रतिमा कभी नहीं लगानी चाहिए।
    • आप घर में गणेश की एक से ज्यादा प्रतिमा लगा सकते हैं। परंतु वास्तु शास्त्र के अनुसार, कभी भी एक ही जगह पर 3 मूर्तियां एक साथ न रखें।