अब मध्य प्रदेश में शादी हो सकती है रद्द, शर्तें लागू

उमरिया: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने एक बार फिर लव जिहाद (Love Jihad) को लेकर सख्त रुख दिखाया. उन्होंने कहा कि, “मध्य प्रदेश की धरती पर लव जिहाद चलने नहीं दूंगा.” बुधवार को उमरिया में भगवन बिरसा मुंडा (Bhagwan Birsa Munda) की मूर्ति के अनावरण कार्यक्रम में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही.

शिवराज सिंह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “मैं कोई कसर नहीं छोडूंगा परन्तु मैं आपसे चाहता हूं कि ऐसे तत्व जो समाज को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं, चाहे वो धर्मांतरण के नाम पर, चाहे दूसरे नाम पर हों, कुछ लोग संगठन बनाकर उनकी आड़ में अपने स्वार्थों को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे लोगों को अलग-थलग कीजिए।”

 यह देश को तोड़ने का षड्यंत्र  

मुख्यमंत्री ने कहा, “मैं मध्य प्रदेश की धरती पर लव जिहाद चलने नहीं दूंगा। उसके लिए हम कानून बना रहे हैं। यह देश को तोड़ने का षड्यंत्र है, इसे किसी भी कीमत पर हम कामयाब नहीं होने देंगे।”

ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश सरकार ने लव जिहाद को लेकर कानून का मसौदा तैयार कर लिया है. पिछले दिनों राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस कानून की जानकारी देते हुए कहा था कि, ” लव जिहाद होगा गैर-जमानती अपराध. दोषियों को होगा पांच साल तक की सजा का प्रावधान. इसमें सहयोग करने वालों को भी इस कानून के तहत मुख्य आरोपी की ही तरह दी जाएगी सज़ा. इसमें शादी के लिए धर्मांतरण कराने वालों को भी होगा सज़ा.

इसी के साथ अगर कोई स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन शादी के लिए करना चाहता है, तो उसे एक महीने पहले कलेक्टर के यहां आवेदन देना होगा. बिना आवेदन के अगर धर्मांतरण किया गया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी. जोर जबर्दस्ती या बलपूर्वक की गयी शादी और धोखे से पहचान छिपाकर की गई शादी को माना जायेगा रद्द.