ट्रेंडिंग टॉपिक्स
लाईव ब्लॉग
अंतिम अपडेटSeptember, 13 2020

कंगना का संजय राउत पर व्यंग्य का गंभीर हथौड़ा

ऑटो अपडेट
द्वारा- Rahul Goswami
कंटेन्ट राइटरनवभारत.कॉम
16:31 PMSep 13, 2020

कंगना रनौत पहुंची राज्यपाल कोश्यारी के दफ्तर, घर के बहार हो रहा प्रदर्शन

इधर कंगना रनौत के घर के बाहर All India Panther Sena उनके खिलाफ प्रदर्शन कर रही है. ये एक दलित पार्टी है, जो मुंबई के खिलाफ किए गए कंगना रनौत के ट्वीट और बयानों का विरोध कर रही है.

अभिनेत्री कंगना रनौत राज्यपाल के ऑफिस पहुंच चुकी हैं. यहां वे अपनी बहन रंगोली के साथ पहुंची हुई  हैं.


कंगना रनौत महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से आज मुलाकात करनी थी. यह मुलाकात शाम 4.30 बजे होनी है. हालांकि कंगना पहले ही पहुंच गई हैं. माना जा रहा है कि कंगना रनौत राज्यपाल के सामने बीएमसी द्वारा उनके दफ्तर को तोड़े जाने और सुरक्षा के संबंध में अपनी बात रख सकती हैं.

मुंबई. एक तरफ जहाँ  शिवसेना (ShivSena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने  बीजेपी (BJP) का कंगना (Kangna Ranaut) को समर्थन देने पर इसको दुर्भाग्यपूर्ण बताया।  वहीं अब इस मुद्दे पर अब कंगना रनौत (Kangna Ranaut) ने इस बात पर ‘सामना’ के संपादक संजय राउत पर बड़ा हमला बोला है।

दरअसल शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा मुंबई की तुलना ‘पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर’ (POK) से करने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत का समर्थन कर रही है। साथ ही, यह बिहार विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। इसके साथ ही राउत ने कहा कि ‘‘यह कठिन वक्त है, जब महाराष्ट्र में सभी मराठी लोगों को एकजुट हो जाना चाहिए।” 

राउत ने कहा, ‘‘ जिस तरह से राज्य का अपमान किया गया, उससे महाराष्ट्र (भाजपा) का एक भी नेता दुखी नहीं हुआ।” उन्होंने कहा,‘‘ एक अभिनेत्री मुख्यमंत्री को अपमानित करती है और क्या राज्य के लोगों को प्रतिक्रिया नहीं करनी चाहिए, यह किस तरह की एकतरफा स्वतंत्रता है?” उन्होंने कहा,‘‘जब शहर में उनका अवैध निर्माण जिसे वह पाकिस्तान कहती हैं, ध्वस्त किया जाता है, तो वह ध्वस्त ढांचे को राम मंदिर कहती हैं। जब अवैध निर्माण पर सर्जिकल स्ट्राइक हो रहा तो आप मर्माहत हो रहे हैं। यह किस प्रकार का खेल है?” 

उधर कंगना ने भी पलटवार करते हुए और ‘कंगना को बीजेपी बचा रही है’ वाले बयान पर व्यंग्य करते हुए कहा कि, “वाह, कितना दुर्भाग्यपूर्ण है कि बीजेपी एक ऐसे शख्स को बचा रही है जिसने ड्रग माफिया की पोल खोली। इसकी जगह बीजेपी को शिवसेना के कथित गुंडे जो नेता बने फिरते हैं उनको  मेरा मुंह तोड़ने, लिंच और रेप करने देना चाहिए था। नहीं संजय जी? उनकी हिम्मत कैसे हुई माफिया के विरोध में खड़ी एक युवा लड़की को बचाने की।”

जिस प्रकार से शिवसेना और कंगना रनौत के बीच या द्वन्द बढ़ रहा है उससे यह साफ़ लग रहा है कि आने वाले दिनों में यह मामले और जोर पकड़ेगा और अगर वक़्त रहते CM उद्धव ठाकरे ने इसके सुध न ली तो शिवसेना को कहीं महाराष्ट्र में लेने के देने न पड़ जाएँ।

 

Advertisement