5 सम्पत्तिधारकों पर गाज, हंगामे के बीच दस्ते ने पूरी की कार्रवाई

नागपुर. बुधवार की दोपहर आसीनगर जोन अंतर्गत आनेवाले न्यू इंदोरा श्रावस्ती बौद्ध विहार के पास उस समय कुछ देर के लिए हंगामे की स्थिति बनी रही, जब मनपा के प्रवर्तन विभाग की ओर से अनधिकृत निर्माण को लेकर सम्पत्तिधारकों के खिलाफ कार्रवाई का सिलसिला शुरू किया. जैसे ही अनधिकृत निर्माणकार्य तोड़ने के लिए बुलडोजर को शुरू किया गया, सम्पत्तिधारकों की ओर से जमकर विरोध किया गया.

विशेषत: यहां पर 5 सम्पत्तिधारकों द्वारा किए गए अवैध निर्माण के लिए जोनल कार्यालय की ओर से पहले ही नोटिस जारी किया गया था. किंतु सम्पत्तिधारकों द्वारा अवैध निर्माण नहीं तोड़ा गया. हंगामे के दौरान दस्ते की ओर से पहले ही काफी समय देने की जानकारी देकर बंदोबस्त में कार्रवाई की शुरूआत की गई. हंगामे के बीच ही दस्ते ने किशोर टेम्भूर्णे के टीन के निर्माण, राजकुमार फुले के घर का बरामदा, विजय बागडे के घर की दीवार, यशवंत चलमलवार की दीवार और बरामदा और चंद्रशेखर सिरसाठ के घर की भी दीवार को ढहा दिया गया. 

गंगा जमुना में इमारत पर चला बुलडोजर

मनपा प्रवर्तन विभाग के अन्य दस्ते की ओर से गांधीबाग जोन के सहायक आयुक्त अशोक पाटिल के मार्गदर्शन में गंगा जमुना, संतोषी स्टोअर्स के पीछे स्थित तिरथबाई उचिया की अवैध इमारत पर बुलडोजर चलाया गया. बताया जाता है कि महिला ने अवैध रूप से 2 मंजिला इमारत का बड़ा निर्माण कर रखा था. जिसमें कई तरह के कमरे थे. पूरी इमारत का ही अनधिकृत निर्माण को तोड़ने के लिए 4 नवंबर 2020 को जोनल कार्यालय की ओर से सम्पत्तिधारक को नोटिस दिया गया था. किंतु उसे नहीं तोड़ा गया. अत: बुधवार को दस्ते की ओर से तोडू कार्रवाई शुरू की गई. जिसमें पश्चिम हिस्से में पहली और दूसरी मंजिल पर ही पैरापीट वाल और 4 कमरे तोड़े गए. साथ ही 4 दरवाजे भी निकाले गए. 

नोटिस के एक सप्ताह में कार्रवाई

प्रवर्तन विभाग ने पार्वती नगर में भी अनधिकृत निर्माण के खिलाफ बुलडोजर चलाया गया. पार्वती नगर रामेश्वरी रोड पर ताराचंद शंकर ने बिना मंजूरी सीढ़ियां और घर के पीछे के हिस्से में सुरक्षा दीवार का निर्माण किया था. यहां तक की खिडकियों पर छज्जे भी बनाए थे. इसे लेकर धंतोली जोन की ओर से 7 दिसंबर 2020 को सम्पत्तिधारक को नोटिस जारी किया गया था.

आश्चर्यजनक यह है कि संभवत: अवैध निर्माण के लिए नोटिस देने के बाद एक सप्ताह के भीतर कार्रवाई सुनिश्चित करने का यह पहला मौका है. जिसमें धंतोली जोन की ओर से गंभीरता दिखाई गई. कार्रवाई में दस्ते की ओर से पूरा अवैध निर्माण निकाला गया. उपायुक्त महेश मोरोणे, गणेश राठोड, किरण बगडे, प्रवर्तन निरीक्षक संजय कांबले के मार्गदर्शन में पूरी, सांभारे, भास्कर मालवे, सुनील बावने, नितिन मंथनवार, मनोज गेडाम, शादाब खान, विशाल ढोले, आतीष वासनिक ने हिस्सा लिया.