Lockdown extended in Nagaland, now restrictions will remain in force till June 30
File

  • चाहते थे 5 बजे तक का टाइम

नागपुर. स्थानीय प्रशासन ने सभी प्रकार की दूकानों को दोपहर 2 बजे तक खोलने की अनुमति दे दी है. इससे व्यक्तिगत दूकान चलाने वाले व्यापारियों में हर्ष है. हालांकि उनकी अपेक्षा थी कि कम से कम 5 बजे तक कारोबार करने की अनुमति दी जाती. इसी प्रकार स्टैंड अलोन शाप को लेकर व्यापारी भारी भ्रम में हैं. देर रात तक इस पर कोई स्पष्टीकरण नहीं मिलने से व्यापारियों में अनिश्चितता का माहौल बना हुआ है. वहीं व्यापारियों के एक वर्ग का कहना है कि दूकानदारी आरंभ करने के लिए यह भी ठीक है. वैसे भी 2-3 दिन साफ-सफाई में लग जाएंगे. इसके साथ ही ग्राहकों का रुझान भी देखना होगा. उन्हें भी मन बनाने में 2-3 दिन का वक्त तो लगेगा ही.

व्यापारियों का कहना है कि सभी प्रकार की स्टैंड अलोन दूकान खोलने की अनुमति मिलने से सभी व्यापारी कुछ न कुछ कारोबार कर पाएंगे. लेकिन यशवंत स्टेडियम या इस प्रकार के स्टोर खोले जा सकते हैं यह नहीं इसे लेकर काफी भ्रम की स्थिति कायम है. इस संबंध में मनपा अधिकारियों से व्यापारियों का संपर्क नहीं हो पा रहा था. कुछ व्यापारियों का कहना है कि जहां उनका कारोबार चलेगा, वहीं कर्मचारी भी काम पर लौंटेंगे. व्यापारी सरकारी आदेश का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. देर शाम जब आदेश जारी हुआ तो कुछ को स्टैंड अलोन शॉप को लेकर संशय था. इस पर काफी विचार-विमर्श भी किया गया लेकिन कुछ मिलाकर व्यापारिक संगठनों ने अभी प्रशासन के इस निर्णय से सहमति जताई है. लेकिन स्पष्टता कल मंगलवार को ही आ पाएगी.

व्यापारिक संगठनों का कहना है कि एक सप्ताह तक 2 बजे का टाइमिंग ठीक हो सकता है लेकिन एक सप्ताह के बाद समय सीमा को बढ़ाकर 5 बजे तक की जानी चाहिए. बाजार जितना अधिक समय तक खुलेगा, भीड़ उतनी कम होगी क्योंकि लोग बाजार में अलग-अलग समय पर आएंगे. इसका लाभ सभी को मिलेगा. 

नियमों का हो सख्ती से पालन

इस बीच, जिला प्रशासन ने व्यापारियों को सख्ती से कोरोना नियम पालन करने को भी कहा है. प्रशासन ने कहा है कि दूकानों पर उनकी नजरें रहेंगी और जहां कहीं भी ढिलाई बरती जाएगी, कार्रवाई की जाएगी. प्रशासन ने व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल को कहा है कि दूकानों में मास्क, सैनिटाइजर का इस्तेमाल नियमों के अनुसार हो. इसी प्रकार यह भी ख्याल रखा जाए कि बहुत अधिक भीड़ न लगे. सतर्कता बरतते हुए ही कारोबार को आगे बढ़ाया जाए ताकि लंबे समय तक बाजार चल सके. इसमें व्यापारियों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है.

बाजारों में लौटेगी रंगत

पिछले 46-47 दिनों से बाजार में वीरानी छायी हुई थी लेकिन इस आदेश के बाद बाजारों में रौनक लौटेगी और व्यापारी घरों से बाहर निकलकर कारोबार कर सकेंगे. बाजार की वीरानी देखकर हर कोई हालाकान था, अब कुछ न कुछ कारोबार करने का मौका सभी को मिलेगा. कम से कम इन्हें इस बात की राहत है कि दूकान के शटर खुलेंगे और ग्राहकों की आवभगत करने का मौका तो मिलेगा. 

खुलेंगी सभी दूकानें

इस बीच रात में एनवीसीसी के अध्यक्ष अश्विन मेहाडिया ने बताया कि प्रशासन से बात हुई है और उन्होंने आश्वासन दिया है कि सभी दूकानें खुली रहेंगी. यशवंत स्टेडिम जैसे दूकानों को भी खोलने की अनुमति दी गई है. इसलिए अब भ्रम की स्थिति नहीं है. सभी व्यापारी कारोबार कर सकते हैं.