Education 7th Pay Commission floor away! Only secondary education department's proposal ready
प्रतीकात्मक तस्वीर

    नाशिक. प्रदेश (State) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) कम हो रहा है और पहले चरण में शिक्षा विभाग (Education Department) ने गुरुवार 15 जुलाई से ग्रामीण कोरोना मुक्त गांवों में आठवीं से बारहवीं कक्षा के स्कूल शुरू करने का निर्णय लिया है। जिला परिषद माध्यमिक विभाग की शिक्षा अधिकारी वैशाली झनकर ने बताया कि नाशिक जिले के स्कूलों के संबंध में जिला आपदा प्रबंधन विभाग के साथ चर्चा करने के बाद अगले दो दिनों में निर्णय लिया जाएगा।

    स्कूल और जूनियर कॉलेज शुरू करने से पहले ग्राम पंचायत के साथ-साथ अभिभावकों की अनुमति लेना अनिवार्य है। स्कूल शुरू करने से पहले शिक्षकों को कोरोना टेस्ट करवाना जरुरी है। छात्रों का भी कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य है। छात्रों को कक्षा में शारीरिक दूरी बनाकर बैठना होगा।

    अंतिम निर्णय के बाद दिए जाऐंगे निर्देश 

    जिले में स्कूल और जूनियर कॉलेज चरणबद्ध तरीके से शुरू करने की कार्रवाई की जाएगी। स्कूलों को संक्रमण से बचाव के लिए सभी नियमों का पालन करना होगा। अगले दो दिनों में अभिभावक मंत्री की अध्यक्षता में जिला आपदा प्रबंधन विभाग की बैठक होगी और स्कूल शुरू करने पर अंतिम फैसला लिया जाएगा। प्रथम चरण में कक्षा आठवीं से बारहवीं तक माध्यमिक शिक्षा के लिए स्कूलों को गाइडलाइंस दी जाएगी। (माध्यमिक शिक्षण अधिकारी वैशाली झनकर)