BIHAR-CHIRAAG

पटना. बिहार विधानसभा चुनावों (Bihar Vidhan Sabha) को लेकर जहाँ प्रदेश में राजनितिक हवा गर्म है। वहीं आज इसका ताप बढ़ाते हुए लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के नेता चिराग पासवान (Chiraag Paswaan) ने अपना विजन डॉक्यूमेंट (LJP Manifesto) जारी कर दिया है। इसके पहले वे पार्टी के घोषणा पत्र जारी करने के लिए LJP कार्यालय के लिए रवाना होने से पहले उन्होंने अपनी मां से आशीर्वाद लिए और उन्हें गले लगते हुए भावुक हो गए।

वहीं विजन डॉक्यूमेंट जारी करते हुए उन्होंने कहा कि, “अगर गलती से मौजूदा मुख्यमंत्री पुन: इस चुनाव में जीत जाते हैं तो हमारा प्रदेश हार जाएगा। हमारा प्रदेश पुन: बर्बादी की कगार पर जाकर खड़ा हो जाएगा। मौजूदा मुख्यमंत्री को देखकर मुझे आश्चर्य होता है कि आप किस तरह से जातीयता को बढ़ावा देते हैं। जो व्यक्ति खुद सांप्रदायिकता को बढ़ावा देता हो, उसके नेतृत्व में बिहार के विकास की कल्पना करना उचित नहीं है।” 

इसके साथ ही उनका कहना था कि नीतीश के पास इस वक़्त अपनी सरकार की कोई भी उपलब्धि नहीं है और वे मोदी सरकार की समस्त योजनाओं को अपनी उपलब्धि बता रहे हैं। हालाँकि इसके बाद चिराग ने भी लोक जनशक्ति पार्टी के विजन डॉक्यूमेंट को जारी करते हुए कई बड़े-बड़े वादे किए।

आईये जानें क्या कहा-क्या वादे किये हैं चिराग ने:

  •    सरकार बनने पर अलग प्रवासी मजदूर मंत्रालय, जिससे दूसरे राज्यों में रहने वाले मजदूरों से संपर्क रखा जायेगा. 
  •    राज्य में मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का किया वादा.
  •    बिहार में स्वास्थ्य की सही सुविधा करायी जाएगी मुहैया, वर्तमान में हालत ठीक नहीं.
  •    नदियों को जोड़ने वाली योजना पर होगा तेजी से काम, ताकि बाढ़ और सूखे की समस्या दूर हों .
  •     बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलवानी के हक में .
  •     इन्वेस्टर्स समिट के जरिए निवेश पर होगा फोकस, लैंड रिफॉर्म पर भी होगा जोर .
  •    धार्मिक टूरिज्म को मिलेगा बढ़ावा, सीतामढ़ी को अयोध्या के साथ जोड़ने की होगी कोशिश .

PM मोदी और स्वर्गीय वाजपेयी का बातों को दोहराया: 

गौरतलब है कि पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) ने अपने समय में देश में नदियों को जोड़ने की योजना चलाई थी, जिसे वर्तमान में मोदी सरकार (Narendra Modi) भी आगे बढ़ा रही है। ऐसे में अगर बार-बार चिराग पासवान अपने संबोधन में PM मोदी के विकास की बात करते हैं तो वे भी तो कहीं ना कहीं नितीश के क़दमों पर चल रहे हैं। फिलहाल तो चिराग पासवान अपने इस विजन डॉक्यूमेंट के साथ विश्वास से भरे हुए दिख रहे हैं।