People are not getting water, corporators complained

    पुणे. पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) के जलापूर्ति  विभाग (Water Supply Department) के अधिकारियों से लगातार शिकायत (Complaint) करने के बावजूद नगरसेवकों के प्रभागों में पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है। पानी छोड़ने वाले महानगरपालिका कर्मी यानी वाल्व मैन इसके विपरीत उत्तर देते हैं। अधिकारी फोन नहीं उठाते हैं। 

    सत्ताधारी होकर भी हम अब कहां शिकायत करें, ऐसा सवाल पेश करते हुए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सदस्यों ने सभागृह नेता गणेश बिडकर (Ganesh Bidkar) के पास शिकायत दर्ज कराई।

    सभागृह नेता के साथ हुई बैठक

    शहर के विभिन्न हिस्सों में पानी की समस्या के समाधान के लिए सभागृह नेता गणेश बिडकर की मौजूदगी में बुधवार को एक बैठक आयोजित की गई थी।  बैठक के दौरान, नगरसेवकों  ने वार्ड में पानी की आपूर्ति की समस्याओं का उल्लेख किया। इस अवसर पर पार्षद रानी भोसले, रूपाली धडवे, वर्षा साठे, रघुनाथ गौड़ा, प्रकाश ढोरे, योगेश समेल, जलपूर्ति विभाग के अधीक्षक अभियंता नंदकिशोर जगताप और विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। पिछले कुछ महीनों से अप्पर इंदिरानगर, धनकवाड़ी, इंदिरानगर, पार्वतीगांव, कस्बा पेठ, खड़की, पुरानी पुणे-मुंबई रोड सहित क्षेत्र के कई हिस्सों में पानी की समस्या है। 

    पानी के मुद्दों को हल किया जाना चाहिए

    भाजपा महानगरपालिका में सत्तारूढ़ दल के रूप में काम कर रही है, लेकिन इसका कोई उपयोग नहीं हो पा रहा है। नगरसेवकों ने कहा कि हम जल आपूर्ति विभाग के अधिकारियों से शिकायत करने बाद एक दिन हमें सही पानी मिलता है, फिर अगले दिन कम दबाव में पानी मिलता है। भाजपा नगरसेवकों के साथ ही पानी की आपूर्ति जानबूझकर किसी के दबाव में नहीं की जा रही है?  इस तरह के संदेह सदस्यों द्वारा इस समय व्यक्त किए गए। सभागृह नेता बिडकर ने सुझाव दिया कि इन सभी सदस्यों द्वारा उठाए गए संदेहों को हल करके अगले चार से पांच दिनों के भीतर सभी पानी के मुद्दों को हल किया जाना चाहिए।

    शहर के सभी हिस्सों में जरूरी जलापूर्ति होनी चाहिए। प्रशासन ने उपाय करने का वादा किया है। कुछ क्षेत्रों में वाल्व मैन की मनमानी जारी होने की शिकायतें हैं। उन पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

    -गणेश बिडकर, सभागृह नेता, पुणे मनपा