Dogs
File Photo

    -सीमा कुमारी

    आमतौर पर लोग अपनी सुरक्षा या शौक के लिए घर में कुत्ता पालना पसंद करते हैं। क्योंकि, कुत्ता एक वफादार  जानवर है। लाल किताब के अनुसार, जिस घर में कुत्ता होता है या तो वह घर बर्बाद हो जाता है, या फिर उस घर की तरक्की दिन दूनी और रात चौगुनी हो जाती है।

    लेकिन, आम धारणा है कि घर में कुत्ता पालने से कई फायदे होते हैं। इससे ना सिर्फ घर में पॉजिटिव एनर्जी आती है, बल्कि यह समाज में मान सम्मान भी बढ़ाता है। वहीं, ‘शकुन शास्त्र’ में कुत्ते को ‘शकुन रत्न’ भी माना गया है। क्योंकि, यह जानवर मनुष्य से भी अधिक वफादार, भविष्य वक्ता और अपनी हरकतों से शुभ-अशुभ का ज्ञात करवाता रहता है।  आइए जानें कुत्ते से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण वास्तु टिप्स…

    • ऐसा कहा जाता है कि सुबह उठते ही कुत्ते को देखने से सकारात्मक ऊर्जा आती है। इसी के साथ घर में लक्ष्मी का आगमन भी होता है।
    • धार्मिक मान्यता के अनुसार,  हिंदू धर्म में कुत्ते को भैरव भगवान का सेवक और यम का दूत कहा गया है। मान्यताओं के अनुसार, कुत्तों को खाना खिलाने से यमदूत आपके आसपास भी नहीं फटकते। वहीं, ये भी कहा जाता है कि कुत्ते भूत-प्रेत और आत्माओं को देखने की भी क्षमता रखते हैं और उनसे घर के आसपास बुरी आत्माएं नहीं फटकती।
    • कहते तो ये भी हैं कि कुत्ता पालने से घर में बच्चे की किलकारियां गूंजती हैं। ऐसे में अगर कोई दंपत्ति  संतानहीन है, तो उसे घर में कुत्ता जरूर पालना चाहिए।
    • कुत्ते को रोज रोटी खिलाने से घर में होने वाले कलह दूर होते हैं और घर में किसी भी प्रकार की दुर्घटना नहीं घटती है।
    • मान्यता है कि रोजाना कुत्ते को खाना खिलाना से शनि प्रसन्न होते हैं। साथ ही कुत्ते को तेल से चिपड़ी रोटी खिलाने से राहु-केतु दोष का भी  निवारण हो जाता है। ऐसे में कोई जातक राहु केतु से परेशान है, तो उसे अपने घर में एक कुत्ता जरूर पालना चाहिए।
    • ऐसा भी कहा जाता है कि कुत्ता बीमार सदस्य का रोग अपने ऊपर लेकर उन्हें ठीक करने में भी सहायक होता है।