अनिल कुंबले ने मेगा ऑक्शन को लेकर कहा- इस बार नीलामी भिन्न और चुनौतीपूर्ण

    बेंगलुरू: पंजाब किंग्स के मुख्य कोच अनिल कुंबले नये खिलाड़ियों लियाम लिविंगस्टोन और ओडियन स्मिथ के टीम से जुड़ने से बेहद संतुष्ट हैं और उन्होंने इस बार की इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) नीलामी को भिन्न और चुनौतीपूर्ण करार दिया। इंग्लैंड के बल्लेबाज लिविंगस्टोन को पंजाब ने नीलामी के दूसरे दिन रविवार को यहां 11.50 करोड़ रुपये की बड़ी धनराशि देकर खरीदा जबकि वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज स्मिथ पर उसने छह करोड़ रुपये खर्च किये। 

    कुंबले ने कहा, ‘‘आपूर्ति की तुलना में मांग अधिक थी लेकिन मुझे लगता था की चुनौतियां थी और इस बार 10 टीमें हैं और यह (नीलामी) भिन्न है।” उन्होंने कहा, ‘‘मैं 2011 और 2014 में दो बड़ी बड़ी नीलामी तथा इस नीलामी से पहले छोटी नीलामियों में रहा हूं। यह वास्तव में भिन्न और अधिक चुनौतीपूर्ण है क्योंकि प्रत्येक खिलाड़ी बड़ी कीमत पर बिक रहा है और ऐसे में आपकी धनराशि कम हो रही है।” कुंबले ने कहा, ‘‘नीलामी की गतिशीलता बहुत भिन्न है और आपको बहुत तेजी दिखानी होती है। पिछले डेढ़ दिन में हमने यह महसूस किया। पिछली नीलामी की तुलना में इस बार अधिक दक्षता दिखानी पड़ रही है।”

    पहले सत्र का आकर्षण लियाम लिविंगस्टोन रहे जिनके लिये पांच टीमों ने बोली लगायी थी। कुंबले ने कहा, ‘‘अभी तक हम जिस तरह से आगे बढ़े हैं उससे काफी संतुष्ट हैं। नीलामी के चुनौतीपूर्ण माहौल के बावजूद हम वैसी टीम बनाने के करीब हैं जैसी हम चाहते थे।” स्मिथ ने हाल में भारत के खिलाफ वनडे श्रृंखला में अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया था और उन्हें अच्छी खासी रकम मिली। स्मिथ को टीम से जोड़ने के बारे में कुंबले ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह सिर्फ हाल के प्रदर्शन के आधार पर नहीं है, हम सभी को पता है कि वह (ओडियन) उभरता हुआ खिलाड़ी है और उसने अपनी ताकत, गेंदबाजी कौशल और बल्लेबाजी कौशल दिखाया है। हमने यहां भारत के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में भी इसका नजारा देखा।”

    उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले कुछ समय से खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर रख रहे थे और हमें बेहद खुशी है कि हम ओडियन जैसे खिलाड़ी को आलराउंडर के रूप में अपने साथ जोड़ पाए।” दिल्ली कैपिटल्स के सहायक कोच प्रवीण आमरे ने कहा कि फ्रेंचाइजी अभी तक की नीलामी से संतुष्ट है। दिल्ली ने नीलामी के दूसरे दिन बल्लेबाज मंदीप सिंह को 1.10 करोड़ रुपये में खरीदा, जबकि बायें हाथ के तेज गेंदबाजों खलील अहमद और चेतन सकारिया को क्रमशः 5.25 करोड़ रुपये और 4.20 करोड़ रुपये में खरीदा गया। 

    आमरे ने कहा, ‘‘हमारे पास अच्छे भारतीय तेज गेंदबाज हो गये हैं। हमारी रणनीति भारतीय तेज गेंदबाजों को चुनने की थी क्योंकि एनरिक नोर्किया हमारी टीम में है। हम कई अन्य संयोजन भी आजमा सकते हैं। बायें हाथ के तेज गेंदबाजों चेतन सकारिया और खलील अहमद के कारण हमें ये विकल्प मिलेंगे।” सनराइजर्स हैदराबाद के सहायक कोच साइमन कैटिच ने कहा कि राहुल त्रिपाठी को टीम से जोड़ना उनकी टीम के लिये अच्छा रहा। उन्होंने कहा, ‘‘हम राहुल त्रिपाठी को लेने में सफल रहे जिन्होंने पिछले कुछ वर्षों में केकेआर और उससे पहले पुणे सुपरजाइंट्स की तरफ से बहुत अच्छा प्रदर्शनर किया था। उनका टीम से जुड़ना बहुत अच्छा रहा। इसके अलावा हमारे पास विकेटकीपर बल्लेबाज निकोलस पूरन हैं जो वेस्टइंडीज की कप्तानी कर चुके हैं।” (एजेंसी)