Loading

इंदौर: बाबर आजम (Babar Azam) की पाकिस्तानी टीम (Pakistan Team gets Indian Visa) को बड़ी राहत मिली है। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सदस्यों को एकदिवसीय विश्व कप के लिए भारतीय वीजा जारी कर दिया गया। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने सोमवार को इसकी पुष्टि की। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) द्वारा राष्ट्रीय टीम की हैदराबाद यात्रा में देरी पर वैश्विक संस्था के साथ गंभीर चिंता जताए जाने के कुछ घंटों बाद आईसीसी ने वीजा जारी होने की पुष्टि की। पाकिस्तान की टीम 27 सितंबर को तड़के भारत के लिए रवाना होगी। टीम को निर्धारित यात्रा से 48 घंटे से भी कम समय पहले वीजा मंजूरी मिल गई। 

 पाकिस्तान को वीजा जारी

पाकिस्तान 29 सितंबर को हैदराबाद में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना पहला अभ्यास मैच खेलेगा। आईसीसी के एक प्रवक्ता ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘पाकिस्तान को वीजा जारी किया जा चुका है।”  वीजा जारी होने को लेकर हालांकि पाकिस्तानी खेमे में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। 

भारतीय उच्चायोग से फोन नहीं आया

पीसीबी के प्रवक्ता उमर फारूक ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘वीजा मंजूरी को लेकर हमें अभी तक भारतीय उच्चायोग से फोन नहीं आया है। हमारी टीम के सदस्य वहां मौजूद हैं।” आईसीसी ने वीजा जारी होने की पुष्टि उस समय कि जब पीसीबी ने आईसीसी को मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ज्योफ एलार्डिस को संबोधित पत्र में दावा किया कि इसमें देरी से टीम की तैयारी प्रभावित हो रही हैं। पाकिस्तान को अभ्यास मैच के लिए 27 सितंबर को हैदराबाद पहुंचने से पहले दुबई में दो दिवसीय ‘टीम बॉन्डिंग’ सत्र आयोजित करना था। भारतीय वीजा पर अनिश्चितता के कारण दुबई के कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है।   

29 सितंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेगी पहला अभ्यास मैच

बाबर आजम की अगुवाई वाली टीम हैदराबाद में दो अभ्यास मैच के बाद विश्व कप के इतने ही मुकाबले खेलेगी। टीम को 29 सितंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना पहला अभ्यास मैच खेलना है। पीसीबी ने आईसीसी को मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ज्योफ एलार्डिस को संबोधित पत्र में दावा किया कि  भारत में विश्व कप के लिए खिलाड़ियों, टीम अधिकारियों, प्रशंसकों और पत्रकारों को दिए जाने वाले वीजा पर उसकी चिंताओं पर तीन साल से अधिक समय से ध्यान नहीं दिया गया है। इसमें यह भी कहा गया कि पाकिस्तान के साथ इस तरह का असमान व्यवहार स्वीकार्य नहीं होगा।

 वीजा हासिल करने में असाधारण देरी हुई

फारूक ने कहा, ‘‘आईसीसी विश्व कप के लिए पाकिस्तानी टीम को मंजूरी मिलने और भारतीय वीजा हासिल करने में असाधारण देरी हुई है। हमने आईसीसी को पत्र लिखकर पाकिस्तान के प्रति असमान व्यवहार के बारे में अपनी चिंताओं को उठाया है और उन्हें विश्व कप के प्रति इन दायित्वों की याद दिलाई है। यह निराशा की बात है कि पाकिस्तान टीम को प्रमुख टूर्नामेंट से पहले अनिश्चितता से गुजरना पड़ रहा है।” पाकिस्तान की टीम ने भारत में आखिरी बार 2016 टी20 विश्व कप में हिस्सा लिया था। दोनों देशों के बीच राजनयिक तनाव के कारण क्रिकेट टीमें एशिया कप और आईसीसी टूर्नामेंटों में ही एक-दूसरे के खिलाफ खेलती हैं।

वीजा में देरी के कारण लगा झटका 

पीसीबी सूत्रों ने बताया कि दुबई यात्रा रद्द होने के बाद लगभग 35 सदस्यीय पाकिस्तानी दल के उड़ान टिकट फिर से बुक किए गए हैं।  एक सूत्र ने कहा, ‘‘जहां तक विश्व कप के लिए टीम की तैयारी का सवाल है, वीजा में देरी के कारण झटका लगा है। अभ्यास मैच में चार दिन से भी कम समय बचा है और खिलाड़ी अनिश्चितता की स्थिति में हैं।” उन्होंने कहा, ‘‘ अगर खिलाड़ियों को इस स्थिति का सामना करना पड़ रहा है तो प्रशंसकों और पत्रकारों के वीजा आवेदनों का क्या होगा।” पाकिस्तान के खेल से जुड़े वीजा आवेदकों को तीन मंत्रालयों (गृह, विदेश और खेल) से मंजूरी की आवश्यकता होती है। (एजेंसी)