जीत के साथ सत्र समाप्त करना चाहेंगे सनराइजर्स हैदराबाद और पंजाब किंग्स

    मुंबई: सनराइजर्स हैदराबाद और पंजाब किंग्स दोनों की प्लेऑफ उम्मीदें खत्म हो चुकी हैं जिससे अब दोनों ही टीमें रविवार को एक दूसरे के खिलाफ अंतिम मुकाबले में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) सत्र का अंत जीत से करना चाहेंगी। दोनों टीमें तब प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गयी थीं जब गुरूवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) ने शीर्ष पर चल रही गुजरात टाइटन्स को हरा दिया था। 

    सनराइजर्स हैदराबाद अपने कप्तान केन विलियमसन के बिना होगी जो अपने दूसरे बच्चे के जन्म के लिये न्यूजीलैंड लौट गये हैं। उनकी अनुपस्थिति में या तो भुवनेश्वर कुमार या फिर निकोलस पूरण के सत्र के अंतिम मैच में कप्तानी की जिम्मेदारी संभालने की उम्मीद है। सनराइसर्ज हैदराबाद ने लगातार पांच मैचों में मिली हार का सिलसिला मुंबई इंडियंस पर तीन रन की करीबी जीत से तोड़ा था जबकि पंजाब किंग्स को दिल्ली कैपिटल्स से 17 रन की हार का सामना करना पड़ा था। बल्कि अगर मयंक अग्रवाल की टीम के सत्र के प्रदर्शन की बात की जाये तो यह काफी अनिरंतर रहा जिसमें टीम लगातार दो मैच नहीं जीत सकी। 

    आरसीबी को 54 रन से हराने के बाद पंजाब को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ ‘करो या मरो’ के मुकाबले में बल्लेबाजी क्रम के चरमराने से हार मिली। पंजाब की बल्लेबाजी इकाई का प्रदर्शन अनिरंतर रहा और अगर उन्हें बड़ा स्कोर बनाना है या फिर बड़े स्कोर का बचाव करना है तो एकजुट होकर प्रदर्शन करना होगा। अगर उसके स्टार बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो और लियाम लिविंगस्टोन, शिखर धवन नहीं चल पाते हैं तो पंजाब के पास जितेश शर्मा हैं जो बड़े स्कोर तक पहुंचा सकते हैं या फिर मैच खत्म कर सकते हैं। गेंदबाजी विभाग में तेज गेंदबाज कागिसो रबाडा (22) इस सत्र के सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाले तेज गेंदबाजों में शामिल हैं। 

    अर्शदीप सिंह (10) ने भी यार्कर डालने की काबिलियत से प्रभावित किया है, विशेषकर अंतिम ओवरों में। सनराइजर्स लगातार पांच मैच जीतकर शीर्ष दो में पहुंचने की ओर बढ़ती दिख रही थी लेकिन उनके मुख्य गेंदबाज वाशिंगटन सुंदर और टी नटराजन के चोटिल होने से उनका अभियान पटरी से उतर गया और टीम को लगातार पांच मैचों में हार का सामना करना पड़ा। कप्तान विलियमसन भी फॉर्म में वापसी नहीं कर सके। गेंदबाजी में तेज गेंदबाज उमरान मलिक ने अच्छा प्रदर्शन किया है और वह इसे बरकरार रखना चाहेंगे। सनराइजर्स के पास अफगानिस्तान के गेंदबाज फजलहक फारूखी भी हैं जिन्होंने पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया। 

    भुवनेश्वर और फारूखी एक और अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद लगाये होंगे जबकि नटराजन को टिम डेविड के खुद के खिलाफ आक्रामक प्रदर्शन को भूलकर फिर से अपनी यार्कर पर ध्यान लगाना होगा। इस सत्र में सनराइजर्स की बल्लेबाजी की जिम्मेदारी राहुल त्रिपाठी ने संभाली है। पिछले मैच में टीम ने एक रणनीतिक बदलाव किया और उसका फायदा मिला। प्रियम गर्ग को टीम में शामिल किया गया जिन्होंने प्रभावित किया। अभिषेक शर्मा भी टुकड़ों में अच्छे रहे हैं जबकि ऐडन मार्कराम भी कुछ अच्छी पारियों के बाद सुस्त हो गये।  

    टीमें इस प्रकार हैं: 

    सनराइजर्स हैदराबाद: अभिषेक शर्मा, राहुल त्रिपाठी, एडेन मार्कराम, निकोलस पूरण, अब्दुल समद, प्रियम गर्ग, विष्णु विनोद, ग्लेन फिलिप्स, आर समर्थ, शशांक सिंह, वाशिंगटन सुंदर, रोमारियो शेफर्ड, मार्को यानसेन, जे सुचित, श्रेयस गोपाल , भुवनेश्वर कुमार, सीन एबॉट, कार्तिक त्यागी, सौरभ तिवारी, फजलहक फारूकी, उमरान मलिक, टी नटराजन।

    पंजाब किंग्स: शिखर धवन, मयंक अग्रवाल (कप्तान), अर्शदीप सिंह, कैगिसो रबाडा, जॉनी बेयरस्टो, राहुल चाहर, हरप्रीत बराड़, शाहरुख खान, प्रभसिमरन सिंह, जितेश शर्मा, ईशान पोरेल, लियाम लिविंगस्टोन, ओडियन स्मिथ, संदीप शर्मा, राज अंगद बावा, ऋषि धवन, प्रेरक मांकड़, वैभव अरोड़ा, रितिक चटर्जी, बलतेज ढांडा, अंश पटेल, नाथन एलिस, अथर्व ताएदे, भानुका राजपक्षे, बेनी हॉवेल।

    मैच भारतीय समयानुसार शाम 7:30 से शुरू होगा। (एजेंसी)