ipl 2021 mumbai indians Hardik Pandya had shoulder concern but will bowl soon Zaheer Khan

    नयी दिल्ली. हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) को मुंबई इंडियन्स (Mumbai Indians) द्वारा आईपीएल नीलामी (IPL Auction) पूल में वापस भेजे जाने की संभावना है क्योंकि पांच बार के चैंपियन ने कमोवेश उन खिलाड़ियों की सूची बना ली है जिसे वे 2022 सत्र में रिटेन (टीम में बरकरार रखना) करेंगे। आरपी-एसजी और सीवीसी द्वारा द्वारा क्रमशः लखनऊ और अहमदाबाद फ्रेंचाइजी को खरीदने के बाद आईपीएल के आगामी सत्र में 10 टीमें होंगी।

    इस साल दिसंबर में इसकी बड़ी नीलामी होगी, जिसमें बहुत सारी टीमें भविष्य को देखते हुए अपनी कोर (मूल) टीम का पुनर्गठन करेंगी। आईपीएल के 14 सत्र की सबसे सफल टीम मुंबई के ‘कोर’ खिलाड़ियों से हार्दिक बाहर हो सकते है। वह पिछले कुछ समय से विशेषज्ञ बल्लेबाज के तौर पर खेलते है।  

    खिलाड़ियों के रिटेन करने से जुड़े आईपीएल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “मुझे लगता है कि बीसीसीआई के पास एक राइट टू मैच (आरटीएम यानी दूसरी टीम की बोली के बराबर रकम पर एक खिलाड़ी को टीम से जोड़ने का अधिकार) का फार्मूला होगा। अगर आरटीएम नहीं हो तो चार खिलाड़ियों को रिटेन करने की छूट मिल सकती है। रोहित शर्मा और भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह उनकी पहली पसंद होंगे।”

    उन्होंने बताया, “कीरोन पोलार्ड टीम की तीसरी पसंद होंगे। इस टीम की ताकत प्रदर्शन में निरंतरता है, जिसमें ये तीनों उनके स्तंभ है।” इस अधिकारी ने कहा, “अभी की परिस्थितियों में हार्दिक को टीम में बनाये रखने की संभावना 10 प्रतिशत से भी कम है। हां, वह टी20 विश्व कप के अगले कुछ मैचों में सभी से बेहतर प्रदर्शन कर सकते है लेकिन फिर भी टीम में उनके लिए संभावना कम है। अगर चार खिलाड़ी रिटेन हुए या एक आरटीएम है, तो सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन उस स्थान के बड़े दावेदार होंगे।”

    हार्दिक को लेकर यह फैसला पूरी तरह से क्रिकेट पर आधारित है, क्योंकि वह अब पहले की तरह ऑलराउंडर नहीं है। हार्दिक पहले 130 किलोमीटर की रफ्तार से तेज गेंदबाजी करते थे लेकिन चोट से वापसी के बाद वह ऐसा नहीं कर रहे है। भारतीय बल्लेबाज श्रेयस अय्यर कप्तानी की भूमिका को लेकर दिल्ली कैपिटल्स का साथ छोड़ सकते है। इस क्रिकेटर के करीबी सूत्रों की मानें तो वह टीम का नेतृत्व करने की भूमिका के लिए उत्सुक हैं और इस बात की संभावना कम है कि दिल्ली कैपिटल्स उन्हें फिर से कप्तानी सौंपे।

    टीम ने ऋषभ पंत की अगुवाई में इस साल आईपीएल के प्ले-ऑफ में जगह पक्की की थी नयी फ्रेंचाइजी टीमों को नीलामी से पहले खिलाड़ियों के पूल से तीन-तीन क्रिकेटरों को चुनने का मौका मिल सकता है। सभी टीमों को बराबरी का मौका देने के लिए बीसीसीआई दो नयी फ्रेंचाइजी (लखनऊ और अहमदाबाद) को नीलामी से पहले उपलब्ध पूल से तीन-तीन खिलाड़ियों को चुनने का मौका देने पर विचार कर रहा है।

    उन्होंने कहा, “इसके पीछे का तर्क यह है कि नयी टीमों को ‘कोर’ तैयार करने का मौका दिया जाए। जाहिर है इसके तौर-तरीकों पर काम करने की जरूरत है, जिसमें खिलाडियों की फीस और साथ ही यह भी शामिल है कि क्या वह विशेष खिलाड़ी नीलामी से पहले चुना जाना चाहता है। ज्यादातर पुरानी टीमों के पास रिटेन का विकल्प होगा ऐसे में नयी टीमों को यह मौका मिल सकता है।” (एजेंसी)