republic-day-2022-pm-narendra-modi-wrote-a-letter-to-chris-gayle-and-jonty-rhodes-on-republic-day

दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के रोड्स मुंबई इंडियंस के पूर्व क्षेत्ररक्षण कोच हैं और साल में काफी समय भारत में रहते हैं।

    नयी दिल्ली, भारत के 73वें गणतंत्र दिवस (Republic Day 2022) के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मशहूर क्रिकेटरों जोंटी रोड्स (Jonty Rhodes) और क्रिस गेल (Chris Gayle) को पत्र लिखकर भारत से उनके ‘प्रगाढ संबंधों’ की सराहना की है।

    दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के रोड्स मुंबई इंडियंस के पूर्व क्षेत्ररक्षण कोच हैं और साल में काफी समय भारत में रहते हैं। उन्होंने अपनी बेटी का नाम भी ‘इंडिया’ रखा है। वहीं वेस्टइंडीज के क्रिस गेल आईपीएल में अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण भारत में काफी लोकप्रिय है।

    मोदी (PM Modi) ने रोड्स को लिखे पत्र में लिखा ,‘‘ मैं आपको हमारे गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें देता हूं।’’उन्होंने लिखा ,‘‘इतने वर्षों में भारत और इसकी संस्कृति से आपका प्रगाढ संबंध हो गया है। यह साबित हो गया जब आपने अपनी बेटी का नाम इस महान देश के नाम पर रखा। आप हमारे देशों के बीच मजबूत संबंधों के विशेष दूत हैं।’’

    रोड्स ने यह पत्र सोशल मीडिया पर साझा किया है। इसमें आगे लिखा है,‘‘ भारत ऐतिहासिक सामाजिक आर्थिक बदलाव के दौर से गुजर रहा है। मुझे यकीन है कि इससे जीवन का सशक्तिकरण होगा और वैश्विक कोष में योगदान दे सकेंगे ।’’

    रोड्स और गेल दोनों ने प्रधानमंत्री मोदी को इस पत्र के लिये धन्यवाद दिया है। रोड्स ने ट्वीट किया ,‘‘ आपके इन शब्दों के लिये धन्यवाद नरेंद्र मोदीजी। हर बार भारत आकर मैं एक इंसान के रूप में काफी परिपक्व होता गया हूं। मेरा पूरा परिवार भारत के साथ गणतंत्र दिवस मना रहा है। भारत के लोगों के अधिकारों की रक्षा करने वाले संविधान के महत्व का सम्मान। जय हिंद।’’

    गेल ने ट्वीट किया ,‘‘ मैं भारत को 73वें गणतंत्र दिवस की बधाई देता हूं। सुबह उठा तो प्रधानमंत्री मोदी का निजी संदेश मिला जिसमें उनके और भारत के लोगों के साथ मेरे करीबी व्यक्तिगत संबंधों का जिक्र था। यूनिवर्सल बॉस की ओर से बधाई और प्यार।’’

    गेल, डेविड वॉर्नर और एबी डिविलियर्स जैसे क्रिकेटरों के चाहने वालों की भारत में कमी नहीं है। आईपीएल की वजह से दुनिया भर के स्टार क्रिकेटर काफी समय भारत में बिताते हैं जिससे उन्हें भारत के करीब आने का मौका मिला है।