राही सरनोबत: जिन्होंने भारत को दिलाया निशानेबाजी में पहला स्वर्ण पदक

    नई दिल्ली: निशानेबाजी में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला राही सरनोबत आज अपना 32 वां जन्मदिन  (Rahi Sarnobat Birthday) मना रही हैं। उनका जन्म आज ही के दिन 30 अक्टूबर 1990 को महाराष्ट्र के कोल्हापुर में हुआ था। उन्होंने आईएसएसएफ विश्व कप की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। 

    जन्मदिन के मौके पर जानते है उनकी उपलब्धियां 

    • राही सरनोबत ने 5 अप्रैल 2013 को कोरिया के चांगवान में चल रहे आईएसएसएफ विश्व कप की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में पहुंची थीं. जहां उन्होंने स्थानीय निशानेबाज केयोंगे किम को 8-6 से हराकर स्वर्ण पदक भारत के नाम किया था। वह विश्व कप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय पिस्टल निशानेबाज हैं।
    • राही ने अमेरिका में 2011 आईएसएसएफ विश्व कप में कांस्य पदक भी जीता था। 
    • राही ने कॉमनवेल्थ 2010 में एक गोल्ड और एक सिल्वर मेडल जीता था। 
    • उन्होंने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप 2011 में ब्रॉन्ज जीतकर ओलिंपिक का टिकट लिया।
    • वहीं राही लंदन ओलंपिक्स 2012 में भारत की सबसे कम उम्र की निशानेबाज थीं।
    • 2014 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में 25 मीटर एयर पिस्टल में राही सरनोबत ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल जीता।
    • राही ने 2014 के एशियाई खेलों में कांस्य पदक हासिल किया। 
    • 2018 एशियाई खेलों में राही ने निशानेबाजी की 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में खेल रिकॉर्ड के साथ भारत को स्वर्ण पदक दिलवाया। 

    इस प्रकार से वह एशियाई खेलों में निशानेबाजी में स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनीं। राही ने कोल्हापुर के संभाजी राजे शूटिंग सेंटर में  शूटिंग की तैयारी की है।