Mumbai Lockdown Updates: No weekend lockdown in Mumbai at present: Mayor Kishori Pednekar
Photo: ANI (File)

    मुंबई: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में सामने आए कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए स्वरूप (New Variant of Coronavirus) ओमीक्रोन (Omicron) के चलते दुनियाभर के कई देशों में चिंता बढ़ा दी है। इस बीच महाराष्ट्र (Maharashtra) समेत कई राज्यों ने यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस (Guidelines) जारी की हैं। इस बीच मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने बताया है कि, दक्षिण अफ्रीका से मुंबई आए 4 यात्रियों का COVID-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है, इनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं  और रिपोर्ट आने का इंतज़ार किया जा रहा है। 

    एएनआई के मुताबिक, किशोरी पेडनेकर ने कहा, दक्षिण अफ्रीका से मुंबई पहुंचे यात्रियों में 4 का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है। उनके सैंपल लेकर आगे जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं। नए वेरिएंट ओमीक्रोन को देखते हुए ‘जोखिम’ वाले देशों के यात्रियों के लिए RT-PCR टेस्ट करना अनिवार्य है। 

    इससे पहले बुधवार को महाराष्ट्र सरकार ने यात्रियों के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए थे। इनमें कहा गया था कि, हाई रिस्क वाले देशों के अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को प्रायॉरिटी पर प्लेन से उतारा जाएगा और उनकी टेस्टिंग के लिए मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटिड (MIAL) और एयरपोर्ट प्राधिकरण द्वारा अलग काउंटरों की व्यवस्था होगी।इससे पहले महाराष्ट्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस में कहा गया था कि, किसी भी अंतरराष्ट्रीय देश से राज्य में आने वाले सभी यात्री भारत सरकार के निर्देशों द्वारा शासित होंगे। घरेलू यात्रियों को या तो पूरी तरह से वैक्सीनेशन होना चाहिए या फिर 72 घंटे के लिए वैध आरटी-पीसीआर रिपोर्ट साथ रखनी होगी।

    गुरुवार को महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Health Minister Rajesh Tope) ने कहा कि, कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच घरेलू हवाई यात्रा (Domestic Travel) के लिए संशोधित दिशानिर्देश (Guidelines) राज्य सरकार अगले कुछ दिनों में जारी करेगी।

    एक रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने एक दिन पहले राज्यों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के मुताबिक कदम उठाने का निर्देश दिया, जिसके बाद टोपे का यह बयान सामने आया। महाराष्ट्र ने राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा मंगलवार रात जारी दिशा-निर्देशों के तहत ‘जोखिम वाले’ देशों से राज्य में आने वाले यात्रियों के लिए सात-दिवसीय संस्थागत पृथक-वास अनिवार्य कर दिया है। ऐसे यात्रियों की आगमन के दूसरे, चौथे और सातवें दिन आरटी-पीसीआर जांच भी होगी। अगर व्यक्ति कोविड-19 से ग्रसित पाया जाता है तो उसे अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा।