Mumbai Police
File Photo

    अमरावती. शहर पुलिस विभाग द्वारा डेली क्राइम रिपोर्ट  (डीसीआर) में प्रतिदिन घटित अपराधों की जानकारी दी जाती है, लेकन इस डीसीआर में कई बार खामियां सामने आती है. शनिवार, 1 जनवरी की शाम डीसीआर में साइबर पुलिस थाने में दरर्ज विनयंभग के एमक मामलें में पुलिस ने 32-12-2021 की तारीख दर्ज की. जिससे पुलिस के इस कारनामे की शहर पुलिस में चर्चा हो रही है.  

    विनयभंग के मामले में गलत तिथि 

    अनुशासन प्रिय विभाग के तौर पर जाते जाने पुलिस विभाग में नागिरकों की सुरक्षा  को लेकर दिन-रात कर्तव्य पर पुलिस कर्मी तैनात रहते है. जबकि कुछ कर्मचारी कार्यालय में बैठकर कामकाज संभालते है. कर्तव्य निभा रहे कुछ कर्मचारियों से गलती भी होती है. जो काम करता है, उससे ही गलतियां होती है. इसमें कोई दो राय नहीं है.

    मनुष्य गलतियों का पुतला माना जाता है. जिससे साधारण गलतियों पर वरिष्ठों से चेतावनी दी जाती है. ताकि दुबारा यह गलती ना हो पाए. लेकिन साइबर पुलिस स्तेशन में दर्ज एक विनयभंग के मामले में 32 दिसंबर 2021 के पूर्व की घटना का जिक्र किया गया है. जिस पर आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है.  

    गलतियों पर वरिष्ठ ध्यान देंगे क्या?

    एक युवती के नाम बनावटी इन्स्टाग्राम अकाउंट तैयार कर, उस युवती के निजी फोटो पोस्ट किए गए. इस घटना की शिकायत पीड़ति युवती ने 1 जनवरी 2022 को साइबर पुलिस थाने में दर्ज कराई. घटना का संक्षिप्त विवरण डेली क्राइम रिपोर्ट के माध्यम से प्रतिदिन मार्निंग व इवनिंग को पुलिस विभाग द्वारा  दिया जाता है.

    लेकिन मामले में 32 तारीख के पूर्व घटना होने का जिक्र किया गया है.  डीसीआर में गलत तारीख दिए जाने से हैरत जताई जा रही है. इस तरह कई बार डीसीआर में गलतियां देखने मिलती है. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इस पर ध्यान देंगे क्या, इसको लेकर नागरिको में प्रश्न उपस्थित किये जा रहे है.