बहिरम यात्रा को दें अनुमति, जिलाधिकारी से मांग

    अमरावती. कोरोना महामारी के चलते लगातार 2 वर्षों से जिले में बहिरम यात्रा की परंपरा खंडित की जा रही है. जिला परिषद प्रशासन द्वारा हर वर्ष लगातार 1 माह तक बहिरम यात्रा का आयोजन किया जाता है. लेकिन इस वर्ष भी ओमिक्रॉन नामक वायरस के कारण जिला प्रशासन द्वारा जिले में बहिरम की 1 माह की यात्रा को स्थगिति दी है. जिसके कारण इस यात्रा पर निर्भर परिवारों पर भुखमरी की नौबत आई है. इसीलिए तत्काल बहिरम यात्रा की अनुमति देने की मांग को लेकर निवासी उपजिलाधीश आशीष बिजवल को निवेदन दिया.

    भुखमरी की नौबत

    1 माह में कमाई कर सालभर अपने परिवार के लालन- पालन की जिम्मेदारी उठाने वाले उन परिवारों का रोजगार छीन चुका है. अगर इस वर्ष की जिला प्रशासन द्वारा यात्रा को अनुमति नहीं दी तो बहिरम यात्रा में विभिन्न स्टॉल लगाने वालों पर भूखमरी की नौबत आयेगी ऐसी चेतावनी दी है. जिला प्रशासन द्वारा 14 दिसंबर तक बहिरम यात्रा आयोजन पर विचार नहीं किया गया तो 15 दिसंबर को बहिरम मार्ग पर बहिरम यात्रा समिति द्वारा चक्काजाम आंदोलन कर जिला प्रशासन की नींद खोलने का प्रयास किया जाएगा.

    ऐसे संकेत समिति सदस्यों ने दिये है.  इस समय अध्यक्ष रहीम खान, विजय म्हाला, बंडु अर्डक, शरद उमाले, आकाश पारड़े, राजू कशप्प, प्रकाश लसनकर, रमेश गायगोले, अर्जुन गुप्ता उपस्थित थे.