4 को उर्जा मंत्री का घेराव, विदर्भ राज्य समिति का आंदोलन

अमरावती. कोरोना काल का बिजली बिल माफ करने की मांग को लेकर विदर्भ राज्य आंदोलन समिति द्वारा 4 जनवरी को उर्जा मंत्री नितीन राऊत के नागपुर स्थित निवास स्थान पर घेरा जाएगा. यह निर्णय रविवार को पत्रकार भवन में हुई समिति की बैठक में लिया गया. समिति के अध्यक्ष पूर्व विधायक एड.वामन चटप की अध्यक्षता में हुई बैठक में विदर्भ प्रदेश महिला आघाडी अध्यक्ष रंजना मामर्डे, राजेंद्र आगरकर, अशोक हांडे, सुभाष धोटे, सुनील सावले, दिपक कथे, माधव गावंडे, सचिव राऊत, रियाज खान, विजय कुबडे आदि समेत बड़ी संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे. 

संविधान चौक से निकलेगा मार्च

4 जनवरी को नागपुर के संविधान चौक से दोपहर 12 बजे ‘बिजली व विदर्भ मार्च’ निकलेगा. लगभग 5 किलोमीटर तक यह मार्च उर्जा मंत्री नितीन राऊत के निवास पर पहुंचकर ठिया दिया जाएगा. आंदोलन में विदर्भ के सभी 11 जिले से बड़ी संख्या में बिजली ग्राहक, किसान, युवा, महिलाएं शामिल होगी. इस आंदोलन को सफल बनाने समूचे विदर्भ में बैठक, सभा, सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है.

कोरोनाकाल का बिजली माफ करें

कोरोना ने आमजनों का कामकाज छीन लिया है. इसलिए उन्हे राहत देने लॉकडाउन के दौराल का बिजली माफ करने की मांग इस आंदोलन के माध्यम से किया जाएगा. इसी प्रकार विदर्भ में पर्याप्त बिजली का उत्पादन होता है, जिसके देखते हुए विदर्भ की जनता को 200 यूनीट तक बिजली निशुल्क देनी चाहिए. उसके बाद के यूनीट दर आधे करे, कृषि पंप को बिजली बिल से मुक्त करे, विदर्भ के किसानों को 25 हजार प्रति हेक्टेयर नुकसान भरपाई दे आदि मांगे भी इस आंदोलन में की जाएगी. आंदोलन में हजारों की संख्या में शामिल होने का आह्वान विदर्भ राज्य आंदोलन समिति ने नागरिकों से किया है.