Due to the availability of modern vehicles, the work of the police team will be more dynamic

    औरंगाबाद. पुलिस दल को  सक्षम  करने के लिए सरकार विविध उपक्रमों पर अमलीजामा पहना रही है। इसी कड़ी में डायल-112 योजना (Dial-112 Plan) के अंतर्गत पुलिस आयुक्तालय और ग्रामीण  एसपी कार्यालय के लिए चौपहिया और दुपहिया वाहन उपलब्ध होने के कारण जिला पुलिस दल अधिक गतिमान  होगा। यह विश्वास जिले के पालकमंत्री सुभाष देसाई (Guardian Minister Subhash Desai) ने  यहां जताया।

    पुलिस आयुक्त कार्यालय के प्रांगण में शहर पुलिस के लिए डायल-112 योजना अंतर्गत 74 दुपहिया वाहनों के पालकमंत्री देसाई के हाथों हरी झंडी दिखाकर लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर देसाई बोल रहे थे। कार्यक्रम में विधायक अतुल सावे (MLA Atul Save), प्रदीप जैसवाल, अंबादास दानवे, शहर के सीपी डॉ. निखिल गुप्ता, कलेक्टर सुनील चव्हाण, मनपा कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय के अलावा पुलिस विभाग के अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। देसाई ने कहा कि संपूर्ण पुलिस दल यह कानून और सुव्यवस्था बनाए रखने के लिए दिन-रात तत्परता से कार्य कर जनता की सुरक्षा के लिए तैनात रहती है। बदलते समय के अनुसार, जनसंख्या प्रमाण में अधिक क्रियाशीलता के लिए पुलिस दल जिला नियोजन समिति के निधि से उपलब्ध  हुए वाहनों का लोकार्पण करते हुए मुझे काफी खुशी हो रही है। साथ ही जिला नियोजन समिति के माध्यम से इससे पूर्व भी ग्रामीण एसपी कार्यालय को कई वाहन उपलब्ध कराए गए है। अब 74 नए वाहन सीपी कार्यालय में शामिल होने के कारण पूरे औरंगाबाद जिले के पुलिस दल के सुविधा में इजाफा हुआ है। जिससे पुलिस अपराधियों पर जल्द शिकंजा कसने में कामयाब होगी।

    सीपी  ने माना जिला नियोजन समिति का आभार 

    पुलिस कमिश्नर डॉ. निखिल गुप्ता ने जिला नियोजन समिति के माध्यम से शहर पुलिस को 12 चौपहिया वाहन और 74 दुपहिया वाहन उपलब्ध कराए जाने पर  जिला नियोजन समिति के अध्यक्ष और पालकमंत्री सुभाष देसाई का आभार माना। जिलाधिकारी चव्हाण ने कहा कि पालकमंत्री के पहल से जिला नियोजन समिति अंतर्गत पुलिस दल के लिए चौपहिया और दुपहिया वाहन उपलब्ध कराए गए है। 112 योजना के अंतर्गत पुलिस किसी भी परिसर के नागरिकों तक बड़ी आसानी से पहुंच पाएगी।