Cold stress is increasing gradually

पालांदूर. पिछले 2 दिनों में ठंड बढ़ गई है. ठिठुरने वाली ठंड की वजह से ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ जगहों पर अलाव जलते नजर आ रहे हैं. तापमान 10 डिग्री के औसत से नीचे चला गया है. इसलिए स्वेटर, मफलर, टोपी, हाथ के दस्ताने, मोजे व शाल, कंबल जैसी गर्म चीजें बाहर निकाली गई है. यह ठंड और कुछ दिनों तक रहने का अनुमान है, किंतु किसान खुश हैं कि बढ़ती ठंड से उनकी फसल बचने की संभावना है.

रात में अधिक ठंड बढ़ जाती है और दिन के समय कंपकंपी छूटती है. इसलिए खेतों में ग्रामीण क्षेत्रों में हर जगह अलाव जलाकर लोग गर्मी लेते हुए दिखाई दे रहे हैं. इसके अलावा नागरिक आगामी ग्राम पंचायत चुनाव व आगामी जिला परिषद चुनावों पर भी चर्चा कर रहे हैं. वही खेत में अपनी फसलों की सिंचाई करने किसान इतनी ठंड में भी खेतों की सिंचाई का काम कर रहे हैं.

वर्तमान में पड़ रही कड़ाके की ठंड सभी को परेशान कर रही हैं. यह देखा जा रहा है कि रात में ठंड के कारण गांव जल्दी सुनसान हो रहे हैं. कुछ और दिनों तक ठंड रहने की उम्मीद है, तो अभी यह गुलाबी ठंड कंपकंपी भर रही है. इसलिए स्वेटर व मफलर पहने नागरिक हर जगह अलाव जलाते हुए नजर आ रहे है.