Leopard attacked again in Mumbai, 14 year old boy injured, eighth incident of attack in 1 month
File Photo

    • चंद्रपुर-बल्लारपुर मार्ग  की घटना

    बल्लारपुर. आज दोपहर चंद्रपुर से बल्लारपुर की ओर आ रहे एएसआई पर तेंदुए ने हमला कर दिया जिसमें वह गंभीर रुप से घायल हो गया. उसे उपचार के लिए जिला सरकारी अस्पताल में दाखिल किया जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई है. इस घटना से इस मार्ग पर आवागमन करने वालों पर दहशत फैल गई है.

    घात लगाकर बैठे तेंदुए ने किया हमला

    प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला पुलिस मुख्यालय में वायरलेस विभाग में कार्यरत एएसआई अविनाश पडोले अपनी पैशन मोटर साइकिल क्रं. एमएच 34 एटी 2057 में सवार होकर चंद्रपुर से बल्लारपुर की ओर आ रहे थे. राज्य महामार्ग पर पुराने पावर हाउस के टेकडी पर स्थित बल्लारपुर शहर के स्वागत गेट को जैसे ही उन्होंने पार किया वैसे ही झाडियों में घात लगाये बैठे तेंदुए ने उपपर हमला दिया.

    अचानक हुए हमले से पडोले सडक पर गिर पडे. जिससे उनके सिर पर गंभीर चोटें आई. हमला करने के बाद तेंदुआ वहां से भाग खडा हुआ. घटना के तुरंत बाद पीछे से आ रहे स्थानीय बीटीएस प्लाट निवासी राकेश यादव और दिपेश यादव ने घायल एएसआई को ग्रामीण अस्पताल बल्लारपुर में पहुंचाया.

    गंभीर रुप से घायल अविनाश पडोले की मेडिकल आफिसर डा. गजानन मेश्राम ने प्रथमोपचार कर आगामी उपचार के लिए जिला सरकारी अस्पताल चंद्रपुर भेज दिया.

    इसके पूर्व पेपर मिल कर्मी पर किया था हमला

    ज्ञात हेा कि पिछले कई माह से पेपरमिल तथा पावर हाउस क्षेत्र में तेंदुए विचरण करने की जानकारी है. बताया जाता है कि मादा तेंदुआ ने इस क्षेत्र में दो शावकों को जन्म दिया है. सर्वसुविधायुक्त परिवेश रहने से गत कई माह से यह मादा तेंदुआ अपने दोनों शावकों के साथ इस क्षेत्र में विचरण कररही है. इसके पूर्व भी अपनी ड्यूटी समाप्त कर घर जा रहे विसापुर निवासी पेपर मिल कर्मी विश्वास गिरसावले पर 22 अगस्त की रात हमला किया था.

    जिसमें पीछे से आ रहे अन्य सहकर्मियों के शोर शराबा करे से विश्वास गिरसावले बाल बाल बच गया था. यह मादा तेंदुआ शावकों के साथ पेपर मिल की चारदीवारी फांद कर पेपर मिल कालोनी में मुक्त विचरण करने से  कालोनी वासी भी दहशत के साये में है. वनविभाग को लगातार सूचना देने के बावजूद उनकी ओर से कोई कार्रवाई अब तक नहीं की गई है.

    बसेस बंद होने से आटो से सफर करने वालों में दहशत

    इन दिनों राज्य परिवहन निगम की बसेस के कर्मचारियों की हडताल शुरु है. इसकी वजह से चंद्रपुर से बल्लारपुर और बल्लारपुर से चंद्रपुर अपनी ड्यूटी तथा अन्य कामों के लिए आने वालों की संख्या अधिक है. काम करने वालों को तिपहिया आटो का सहारा लेना पडता है. किंतु इस घटना के बाद से अब आटो वालों में और आवागमन करने वालों में दहशत का माहौल है.

    वनविभाग ने किया तेंदुए के हमले में मृत से इंकार

    इस संबंध में वनविभाग ने एएसआई की मौत तेंदुए के हमले में होने से इंकार किया है. चर्चा है कि एएसआई पर तेंदुएं ने हमला किया है किंतु इसका कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं है. पीछे से आ रहे लोगों ने उन्हे उपचार के लिए दाखिल कराया है. जहां से चंद्रपुर भेजे जाने पर उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई है. उनके मृत्यु का वास्ताविक कारण तो पोस्टमार्टम के बाद ही सामने आएगा.