नामांकन के अंतिम दिन उम्मीदवारों ने दिखाया जोर, देर शाम तक चलती रही नामांकन की प्रक्रिया

  • नामांकन कार्यालय में लगी रही लम्बी कतारें

चंद्रपुर: ग्रामपंचायत चुनाव के लिए आज बुधवार 30 दिसंबर नामांकन का अंतिम दिन होने से देर शाम तक नामांकन की प्रक्रिया चलती रही. चुनव आयोग ने ग्रामपंचायत चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के समय कोरोना के चलते ऑनलाईन नामांकन का फरमान जारी किया था. ऑनलाईन नामांकन के लिए उम्मीदवारों को पेश आ रही दिक्कतों को देखते हुए मंगलवार को निर्णय लिया गया कि आज नामांकन के अंतिम दिन आफलाईन नामांकन भी लिए जाएंगे.

आफलाईन नामांकन की मंजूरी मिलने के बाद आज सुबह 11 बजे से ही चुनाव में भाग्य आजमाने वालों की नामांकन कार्यालयों के सामने लम्बी कतारें लगनी शुरू हो गई थी. हर गांव में चुनाव को लेकर गहमागहमी का वातावरण देखने को मिला. राजनीतिक दम खम रखनेवाले उम्मीदवारों ने शक्ति प्रदर्शन के साथ नामांकन प्रक्रिया को अंजाम दिया.

एक जगह देर शाम 6बजे के बाद जितने भी नामांकन के लिए खड़े थे उन्हें कार्यालय के भीतर लेकर कार्यालय को बाहर से बंद करदिया गया. कई स्थानों पर नामांकन का अंतिम समय समाप्त होने के बाद भी कार्यालय के बाहर लम्बी कतारें देखने को मिली.  इस बीच कोरोना के खतरे को देखते हुए सामाजिक दूरी बनाये रखने के स्पष्ट निर्देश दिए जा रहे थे.

चंद्रपुर जिले में 629 ग्रामपंचायतों के लिए 15 जनवरी को मतदान होगा. आज नामांकन का अंतिम दिन था. पिछले दो दिनों से इंटरनेट सर्वर बंद होने से नामांकन के लिए इच्छुक लोगों में गहमागहमी मची हुई थी.  इस संदर्भ में राज्य चुनाव आयोग ने नामांकन प्रक्रिया को एक दिन बढाकर आफलाईन नामांकन की मंजूरी दी. आज बुधवार की शाम 5.30 बजे तक का समय दिया गया था. परंतु नामांकन भरनेवालों की भीड़ के चलते साढे पांच बजे के बाद जितने भी कार्यालय के समक्ष मौजूद थे उन्हें भीतर लेकर नामांकन की प्रक्रिया को देर शाम तक जारी रखा गया.

घुग्घुस ग्रा.पं. में शतप्रतिशत बहिष्कार,  ग्रामपंचायत के सामने किया ठिया आंदोलन

घुगघुस ग्रामपंचायत को नगर पालिका का दर्जा देने, ग्रामपंचायत चुनाव रद्द करने की मांग को लेकर आज सर्वदलीय समिति ने चुनाव का बहिष्कार किया. आज अंतिम दिन एक भी नामांकन दाखिल नहीं हुआ. ग्रामपंचायत के सामने सभी दलों के पदाधिकारियों ने ठिया आंदोलन किया.

सभी पदाधिकारी नजर रखे हुए थे कि कोई भी नामांकन ना भरे. इस बीच एक युवक ने नामांकन भरने का प्रयास कर सभी पदाधिकारियों का सिरदर्द बढा दिया. सभी उसे मनाने में जुट गए परंतु वह युवक नामांकन के लिए अड़ा हुआ था, जिसके चलते काफी समय तक तनावपूर्ण स्थिति बनी रही. काफी मान मनौवल करने के बाद युवक नामांकन के अपने इरादे से पीछे हटा और सभी के जान में जा आयी.