Corona virus: Sundar Pichai donated five crore rupees to 'Give India' Foundation

     मुंबई: एक बड़ी खबर के अनुसार गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई (Google CEO Sundar Pichai) समेत कंपनी के पांच अन्य अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।  अदालत के निर्देश पर उनके खिलाफ कॉपीराइट अधिनियम की धारा में एफआई आर दर्ज की गई है। 

    ख़बरों के मुताबिक, फिल्म निर्देशक सुनील दर्शन ने अपनी शिकायत में कहा कि Google ने अनधिकृत व्यक्तियों को उनकी फिल्म ‘एक हसीना थी एक दीवाना था’ को YouTube पर अपलोड करने की अनुमति दी थी। उल्लेखनीय है कि, सुंदर पिचाई को एक दिन पहले पद्मभूषण से सन्मानित किया जा चूका है ।

    जानकारी के मुताबिक, निर्देशक सुनील दर्शन ने आरोप लगाया है कि, बिना उनकी जानकारी के इस फिल्म को यू-ट्यूब पर अपलोड कर किया गया। उसी फिल्म के कॉपीराइट मामले में फिल्म मेकर सुनील दर्शन अदालत का रुख किया था। जहां अदालत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई और पांच अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। वहीँ, MIDC पुलिस ने अंधेरी ईस्ट में मामला दर्ज कर, जांच शुरू कर दी है। बता दें कि, पुलिस ने कॉपीराइट एक्ट 1957 की धारा 51, 63 और 69 के तहत एफआईआर दर्ज की है। 

    कोई गलत तरीके से मेरी फिल्म से पैसे कमा रहा है- सुनील दर्शन

    एक मिडिया रिपोर्ट के अनुसार, सुनील दर्शन ने कहा कि, मैंने अपनी फिल्म को आज तक कहीं भी अपलोड नहीं किया है और न ही मैंने इसे किसी को बेचा है। लेकिन यू ट्यूब पर यह अपलोड है जिस पर करोड़ो व्यूज है। मैं गूगल से लगातार विनती करता रहा कि वह इसे अपने प्लेटफॉर्म से हटा लें। लेकिन उनकी तरफ से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। कोई गलत तरीके से मेरी फिल्म को यूट्यूब पर अपलोड करके पैसा कमा रहा है। जिससे परेशान होकर अंत में मुझे कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा।  कोर्ट ने अब एफआईआर का आदेश दिया है।  मैं टेक्नोलॉजी को चैलेंज नहीं करना चाहता लेकिन यह टेक्नोलॉजी का गलत इस्तेमाल है।”