गड्डे में फंसी बस, दूर्घटनाओं सिलसिला जारी, कब होगी भिमपूर मार्ग की पक्की मरम्मत

    •  नागरिकों द्वारा पुछा जा रहा सवाल 

    कोरची. कोरची तहसील में प्रशासकीय उदासिनता के चलते सड़कों की स्थिती दयनीय हुई है. इसी में कोरची तहसील मुख्यालय से महज 5 किमी दूरी पर स्थित भिमपूर गांव समिप बडे बडे गड्डे निर्माण हुएं है. यह गड्डे जानलेवा बन रहे है. छत्तसीगढ़ राज्य से आ रही एक यात्री बस यहां के गड्डें में फंसने से यातायात प्रभावित हुई थी. इसी के साथ इस मार्ग पर दूर्घटनाओं का सिलसिला नितदिन जारी है. इसके बावजूद प्रशासन का इस ओर ध्यान नहीं है.

    मरम्मत के नाम पर केवल गड्डों की लिपापोती करने का कार्य किया जा रहा है. मात्र सड़क की पक्की मरम्मत की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. सड़कों की लिपापोती के बाद कुछ ही दिनों में सड़कों की स्थिती जैसे की वैसी हो रही है. जिससे सरकार का निधि व्यर्थ जाने की बात कहीं जा रही है. इस सड़क की पक्की मरम्मत कब होगी ऐसा सवाल उपस्थित किया जा रहा है. 

    बस फंसने से यात्रियों को हुई दिक्कत  

    कोरची मुख्यालय से 5 किमी दूरी पर स्थित भिमपूर गांव समिप मुख्य सड़क पर गड्डे निर्माण हुए है. आज सुबह 9 बजे के दौरान छत्तीसगढ़ के छुरिया परिसर से यात्रियों को लेकर आ रही यात्री बस गड्डे में जा फंसी. जिस कारण इस मार्ग पर ट्रक व अन्य वाहनों की कतारे लग गई थी. यह मार्ग राज्यमार्ग होकर इस मार्ग से भारी आवागमन होता है. मात्र सड़क की पक्की मरम्मत नहीं हो रही है. गड्डे में फंसी बस में यात्रियों में बच्चों का भी समावेश था. जिससे उन्हे भारी परेशानी हुई. करीब 4 से 5 घंटे भुखे रहकर गड्डे से बस के निलकने की प्रतिक्षा करते रहे. 

    ठेकेदारों की ओर अनदेखी 

    कुछ दिन पूर्व सड़क के दयनीय स्थिती के मद्देनजर भिमपूर के नागरिक सड़क पर उतरकर आक्रोश व्यक्त किया था. जिसके पश्चात 7 दिनों में मरम्मत करने का आश्वासन दिया था. किंतू सड़क निर्माण के पश्चात सड़क के देखभाल मरम्मत की जिम्मेदारी जिस ठेकेदार की ओर होती है, उनकी ओर लोक निर्माण विभाग द्वारा अनदेखी किए जा रही है. जिस कारण सड़कों की स्थिती जैसे की वैसी दिखाई दे रही है. 

    सड़क की मरम्मत करे 

    भिमपूर मार्ग पर गड्डे निर्माण होने से वाहन धारक तथा नागरिकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इन दिनों बारिश का मौसम शुरू है. ऐसे में इन गड्डों में पानी भर गया है. जिस कारण वाहनधारकों को गड्डों का अनुमान लगाना मुश्किल है. ऐसे में दूर्घटनाओं का प्रमाण भी बढ़ गया है. जिससे इस मार्ग की मरम्मत करे, ऐसी मांग नागरिकों द्वारा की जा रही है. 

    जल्द होगी कार्य को शुरूआत-तड़स

    इस संदर्भ में लोनिवि उपविभाग के कनिष्ठ अभियंता गौरव तडस से पुछने पर उन्होने बताया कि, कुछ दिन पूर्व इन गड्डों में मुरूम व गिट्टी डालकर मरम्मत की गई थी. किंतू निरंतर बारिश होने से कार्य बंद किया गया है. जल्द ही कार्य को शुरूआत कर गड्डों की मरम्मत की जाएगी, ऐसी बात अभियंता तडस ने कहीं है.