मंजूर सिंचाई कुओं को निधि उपलब्ध कर कार्यारंभ आदेश दे, लाभार्थी किसानों की मांग

    गड़चिरोली. 13000 सिंचाई कुआं कार्यक्रम 2019-20 अंतर्गत जिले में मंजूर हुए लाभार्थी किसानों को तत्काल निधि उपलब्ध कर कार्यारंभ आदेश देने की मांग शिवसेना प्रणीत यातायात व कामगार सेना ने जिलाधिकारी के मार्फत मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, रोगायो प्रधान सचिव को भेजे गए ज्ञापन से की है.

     सरकार के 13000 सिंचाई कुएं कार्यक्रम अंतर्गत वर्ष 2019-20 में गड़चिरोली जिले में करीबन 1700 सिंचाई कुएं मंजूर किए गए है. किसानों को कार्यारंभ आदेश भी दिया गया है. इस आदेश को 2 वर्ष बित गए. किंतू निधि के अभाव में अनेक लाभार्थियों ने सिंचाई कुएं का निर्माण नहीं किया.

    अब इस आदेश की मर्यादा कुछ दिनों में समाप्त होनेवाली है. किंतू लाभार्थियों को निधि नहीं होने के बात कर निरंतर वापिस भेजा जा रहा है. किसानों के सिंचाई कुएं का निर्माण होने पर उनका जीवनस्तर में सूधार होने में मदद मिलेगी. जिले में 1700 सिंचाई कुओं का उद्देश था. प्राप्त आवेदन 10430 आए.

    पात्र आवेदन 4577 थे. जिसमें से 1677 आवेदन मंजूर हुए. कुछ लाभार्थी किसानों ने कुएं का निर्माणकार्य शुरू कर पूर्ण भी किया. मंजूर सिंचाई कुओं को 42 करोड़ रूपयों में से केवल 5 करोड 94 लाख रूपयों का निधि प्राप्त हुआ. अन्य 37 करोड़ रूपयों का निधि बाकी है. जिससे सैंकड़ों लाभार्थी अब भी सिंचाई कुएं का निर्माण नहीं कर पाए. उक्त निधि तत्काल भेजने की मांग सिंचाई कुआं लाभार्थी कर रहे है.

    मुख्यमंत्री ने इस ओर ध्यान देकर तत्काल किसानों को निधि उपलब्ध कराकर कार्यारंभ आदेश देने की मांग ज्ञापन से की गई है. ज्ञापन सौंपते समय शिवसेना प्रणीत यातायात व कामगार सेना के जिलाध्यक्ष कबिर निकुरे, जिला संगठक देवराव दुधबले, जिला उपाध्यक्ष चांगदास मसराम, विकास रामटेके, रंजना मेश्राम, बापूजी फरांडे, अनिल कोलते, हरिदास कुमरे, लक्ष्मण घोडाम, केवलराम मस्के, यशवंत पेंदोरकर, श्रीकृष्ण प्रधानसमेत गड़चिरोली जिले के किसान बडी संख्या में उपस्थित थे.