ट्रांसफार्मर जला, शहर की जलापूर्ति बंद

    • पिने के पानी के लिये भटक रहे लोग

    गड़चिरोली. संपूर्ण गड़चिरोली शहर में वैनगंगा नदी के बोरमाला नदीघाट से जलापुर्ति की जाती है. लेकिन दो दिन पहले नदी तट के जैकवेल समीपस्थ बिजली विभाग का बिजली ट्रान्सफार्मर जलने के कारण दो दिनों में संपूर्ण गड़चिरोली शहर की जलापुर्ति बंद है. जिसके कारण शहर के नागरिकों को पिने के पानी के लिये दर-दर भटकना पड़ रहा है.

    ऐसे में नगर परिषद द्वारा मंगलवार को शहर संपूर्ण शहर में ढिंढोरा पिटकर नागरिकों को सुचित करते हुए जल्द की नियमित रूप से जलापुर्ति करने की सूचना दी गई. बता दे कि, वैनगंगा नदी के बोरमाला नदी घाट समीपस्थ नगर परिषद का जलशुध्दिकरण केंद्र है. नदी का पानी केंद्र में पहुंचने के बाद यहां पर जल का शुध्दीकरण कर शहर के विभिन्न वार्डो में तैयार किए गए पानी टंकियों में भिजवाया जाता है.

    इसके बाद सुबह और शाम ऐसे दो समय पर नलों के जरिये जलापुर्ति की जाती है. लेकिन नदी तट समीपस्थ जैकवेल का बिजली ट्रान्सफार्मर जल जाने के कारण दो दिनों शहर में पानी की किल्लत महसूस हो रही है. वहीं लोग पिने के पानी के लिये भटक रहे है.

    हैन्डंपप और कुओं का सहारा ले रहे लोग

    पिछले दो दिनों से संपूर्ण शहर में जलापुर्ति बंद होने के कारण शहर में पानी की किल्लत महसूस होकर लोग पिने के पानी के लिये यहां-वहां भटकते नजर आ रहे है. वहीं अनेक बार सार्वजनिक हैन्डपंप और कुओं का सहारा ले रहे है. जलापुर्ति बंद होने हैन्डपंप और कुओं पर लोगों की भीड़ दिखाई दे रही है.

    वहीं अनेक बार पानी की कैन खरीदकर अपनी प्यास बुजा रहे है. जलापुर्ति बंद होने के कारण शहर के नागरिकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जिससे नगर परिषद प्रशासन इस ओर गंभीरता से ध्यान देकर तत्काल नियमित बिजली करें, ऐसी मांग शहर के नागरिकों ने की है.

    जल्द शुरू होगी जलापुर्ति: पिपरे

    नगराध्यक्ष योगिता पिपरे ने बताया कि, जैकवेल समीपस्थ बिजली विभाग का बिजली ट्रान्सफार्मर जलने के कारण शहर की जलापुर्ति बंद है. लेकिन नया ट्रान्सफार्मर लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है. जिससे जल्द ही शहर में नियमित रूप से जलापुर्ति होगी. नागरिकों को होनेवाली त्रासदि के लिये दिलगिरी व्यक्त करने की बात उन्होंने कही.