भाजपा की बागी त्रिवेणीबाई बनी सभापति

  • एनसीपी ने दिया भाजपा को झटका

अमलनेर. पंचायत समिति सभापति (Panchayat Samiti Chairman) चयन में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) को जोरदार झटका दिया है। भाजपा से बगावत कर आई त्रिवेणीबाई को एनसीपी की मदद से सभापति बनाया गया है। भाजपा और एनसीपी (NCP) समर्पित भाजपा (BJP)  की बागी प्रत्याशी को समान चार-चार वोट मिलने पर लकी ड्रॉ निकाला गया, जिसमें भाजपा से बगावत कर एनसीपी के खेमे में आई त्रिवेणीबाई (Trivenibai) सभापति के आसन पर विराजमान हुई।

तालुका पंचायत समिति के सभापति पद पर भाजपा की बागी उम्मीदवार त्रिवेणीबाई शिवाजीराव पाटिल राष्ट्रवादी के तीन सदस्यों की मदद से सभापति चुनाव में निर्वाचित हुई है। पंचायत समिति में भाजपा के भिकेश पावभा पाटिल, वजाताई भील, कविता पाटिल, रेखाताई पाटिल, त्रिवेणीबाई पाटिल ऐसे पांच सदस्य हैं. राष्ट्रवादी के पास विनोद जाधव, प्रवीण पाटिल, निवृत्ति बागुल यह तीन सदस्य हैं। सभापति पद महिला आरक्षित होने से सभापति भाजपा का ही होगा, यह तय माना जा रहा था। इससे पूर्व सभापति पद पर वजाताई और  रेखाताई रहे चुकी थी। अब बचे 14 महीनों के लिए पहले किसे सभापति पद मिलता है, इस पर सभी की नजरें लगी थी। 

 भाजपा ने कविता पाटिल को बनाया था उम्मीदवार

पूर्व विधायक स्मिता वाघ व भाजपा पदाधिकारियों में हुई बैठकों में बाजार समिति के पूर्व सभापति प्रफुल पाटिल की पत्नी  कविता पाटिल का नाम तय किया गया था। लेकिन पूर्व पंचायत समिति सभापति श्याम अहिरे ने निर्णय को अमान्य करते हुए अपनी माता त्रिवेणीबाई पाटिल की भी उम्मीदवारी आवेदन प्रस्तुत कर दिया। राष्ट्रवादी के विनोद जाधव सूचक बने। गुरुवार तीन बजे चुनाव सभा की प्रक्रिया शुरू हुई। 

दोनों को मिले 4-4 बोट, लकी ड्रॉ में भी खराब निकली BJP की किस्मत

राष्ट्रवादी के तीन सदस्यों की सहयोग और वोटिंग करने से त्रिवेणीबाई को 4 व भाजपा की कविता पाटिल को भी 4 वोट  मिले, तब पिठासीन अधिकारी तहसीलदार मिलिंद वाघ ने लकी ड्रॉ निकालने का निर्णय लिया। बालिका गौरी सुधीर गिराम के हाथों से नामों की पर्ची निकाली गई, जिसमें  त्रिवेणीबाई का नाम आने पर उन्हें सभापति पद पर घोषित किया गया। इस प्रक्रिया में गट विकास अधिकारी संदीप वायाल, कक्ष अधिकारी किशोर पाटिल, सचिन पाठक, सनेर आदि ने सहकार्य किया।