जलगांव जिला अस्पताल में विकलांगों को प्रमाण पत्र देने की प्रक्रिया शुरू

  • पहले ही दिन 80 दिव्यांगों की जांच

जलगांव. सरकारी मेडिकल कॉलेज (Government Medical College) और अस्पताल ने आखिरकार विकलांग प्रमाण पत्र (Disabled certificate) देने की प्रक्रिया बुधवार से शुरू कर दी है। कोरोना (corona) के कारण 8 महीने से बंद विकलांग प्रमाण पत्र (Disabled certificate) का कार्य एक बार फिर से ज़िला अस्पताल शुरू हो गया है। पहले ही दिन लगभग 80 लाभार्थियों ने दिव्यांग मंडल में जांच कराई और प्रमाण पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया पूरी की।

ज़िला अस्पताल मेडिकल कॉलेज के दिव्यांग प्रमाण पत्र  विभाग के सामने विकलांगों की भीड़ लगी थी। नाम दर्ज करने के लिए विकलांग सुबह आठ बजे से हाजिर थे। 10 से 1 बजे के बीच विशेषज्ञ चिकित्सक द्वारा उनकी जांच की गई। पहले मरीज का परीक्षण डॉ. जयप्रकाश रामानंद की उपस्थिति में की गई। पहले ही दिन 80 लाभार्थियों की निशुल्क जांच की गई।

इन डाक्टरों ने की जांच

इस समय अधिष्ठाता और दिव्यांग मंडल समन्वयक डॉ. मारुति पोटे, वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. वैभव सोनार डॉ. आस्था गनेरीवाल, डॉ. सचिन अहिरे, डॉ. विजय कुरकुरे, डॉ. स्वप्निल कलसकर, डॉ. दिलीप महाजन, डॉ. अक्षय सरोदे, डॉ. प्रसन्न पाटिल आदि ने विकलांगों की जांच की।  गोपाल सोलंकी, चेतन निकम, दत्तात्रय पवार ने मदद की। इस अवसर पर अधिष्ठाता ने नागरिकों से कहा कि विकलांगता प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए लाभार्थी की सरकारी वेबसाइट (www.swavlambancard.in) पर ऑनलाइन  (Apply for Disability certificate & UDID card)  लिंक पर आवेदन प्रस्तुत करना अनिवार्य है। 

8 दिनों में मिलेगा प्रमाण पत्र

प्रमाणपत्र को नवीनीकृत करने के लिए एक लिंक भी है। लाभार्थियों को आवेदन पत्र को प्रिंट करके आधार कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट 2 फोटो और पुराने विकलांगता प्रमाण पत्र और संबंधित दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र लेकर हर बुधवार को सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में उपस्थित होने पर प्रकिया पूरी कर उन्हें अगले आठ दिनों के भीतर प्रमाण पत्र का वितरण पोस्ट के माध्यम से घर बैठे किया जाएगा। इसी तरह (www.swavlambancard.in) इस संकेतस्थल से प्रिंट भी निकाल सकते हैं।