nurses

    नई दिल्ली/मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) से आ रही बड़ी खबर के अनुसार आज यानी कि शनिवार से सरकारी अस्पतालों की 15 हजार से अधिक नर्स (Govt. Hospital Nurses) अनिश्चितकालीन हड़ताल (Strike) पर जाएंगी। दरअसल, महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने अब सरकारी अस्पतालों की नर्सों की भर्ती को एक निजी एजेंसी के जरिये कराने का बड़ा फैसला किया है, जिसके विरोध में आज ये अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू होने वाली है। हालांकि हड़ताल पर जाने से पूर्व महाराष्ट्र स्टेट नर्सेज एसोसिएशन (MSNA) ने 2 दिवसीय हड़ताल का भी आह्वान किया था।

    कुछ अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक MSNA की महासचिव सुमित्रा तोते ने शुक्रवार को कहा कि, “हमारी कोई भी मांग पूरी नहीं हुई है। इसलिए हम आज यानी 28 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे हैं।” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर नर्सों की भर्ती आउटसोर्स की जाती है, तो वे शोषण की चपेट में आ जाएंगी और उन्हें कम पारिश्रमिक मिलेगा। इसके अलावा तोते ने यह भी कहा कि, मुंबई में लगभग 1,500 सहित सरकारी अस्पतालों की 15,000 से अधिक नर्स आज से हड़ताल पर रहेंगी।

    MSNA ने अपनी मांगों के तहत आज अपने सदस्यों की नर्सिंग और शिक्षा भत्ते के भुगतान के लिए भी कहा है। इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि केंद्र और कुछ राज्य नर्सिंग भत्ता 7,200 रुपये का भुगतान करते हैं। ऐसे में इसका लाभ महाराष्ट्र की नर्सों को भी मिलना चाहिए। 

    गौरतलब है कि नर्सों के हड़ताल पर जाने से मरीजों पर काफी बुरा प्रभाव पड़ेगा और आगे भी ऐसी ही समस्या जारी रह सकती है। वहीं बीते गुरुवार को भी 15 हजार नर्सों ने अपना कामकाज बंद कर दिया था।