BMC will buy 100 ventilator

    मुंबई. मुंबई (Mumbai)में एक समय पर तांडव कर रहा कोरोना वायरस (Corona Virus) अब शांत हो गया है। हालांकि, अब भी शहर में 300 से 400 मरीज रोजना रिपोर्ट हो रहे हैं, लेकिन लोगों में रोग की गंभीरता काफी कम हो गई है। ऐसा हम नहीं महानगरपालिका (Municipal Corporation) के आंकड़े बता रहे हैं। मुंबई के 60 फीसदी वेंटिलेटर (Ventilators) और आईसीयू बेड्स (ICU Beds) रिक्त पड़े हैं।

    इस वर्ष अप्रैल और मई में कोरोना रोजना 9 हजार से 10 हजार केस रिपोर्ट हो रहे थे। एक समय ऐसा भी आया जब ऑक्सीजन, आईसीयू, और वेंटिलेटर बेड्स की किल्लत भी होने लगी थी, लेकिन महानगरपालिका ने निरंतर बेड्स की संख्या में थोड़ा-थोड़ा इजाफा किया। दूसरी लहर से जंग लड़ने के बाद अब कोरोना के मामले नियंत्रण में है। इसी के साथ एक लाख के करीब पहुंच गए एक्टिव केसों की संख्या भी काफी कम हो गई है। एक समय वेंटिलेटर और आईसीयू बेड्स के लिए लोग काफी हैरान होते थे और अब शहर के 2282 आईसीयू बेड में से 1455 बेड्स रिक्त पड़े हैं कुल 1295 वेंटिलेटर में से फिलहाल 768  रिक्त पड़े हैं। महानगरपालिका की उपकार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दक्षा शाह ने बताया कि कोरोना के मामले अब काफी कम हो गए है। एक्टिव मरीजों की संख्या में गिरावट के साथ ही नए मामले भी कम हो गए हैं। इसलिए हमारे अधिक्तर सेंटर्स और अस्पतालों में बेड्स रिक्त पड़े हैं।

    87 फीसदी ऑक्सीजन बेड्स रिक्त

    मुंबई में महानगरपालिका के अस्पतालों और जंबो कोविड केयर सेंटर्स में  कुल 8783 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार फिलहाल 827 कोविड मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं, जबकि 1455 बेड्स रिक्त पड़े हैं। यानी की 87 फीसदी बेड्स रिक्त पड़े हैं। जबकि कोविड अस्पताल और जंबो सेंटर में 17631 बेड्स में से 15001 (85 फीसदी) बेड्स रिक्त पड़े हैं। अन्य कोविड सेंटर में 21322 में से 18500 (86.7 फीसदी) बेड्स रिक्त पड़े हैं।

    गंभीर रोगियों की संख्या कम, लेकिन तीसरी लहर का खतरा कायम

    मरीजों की संख्या कम होने के साथ-साथ टीकाकरण के बाद यदि किसी को कोरोना होता है तो वे गंभीर रूप से बीमार नहीं हो रहे है। वैसे तो यह स्पष्ट नहीं कहा जा सकता है, लेकिन मौजूदा हालात यही कह रहे हैं, लेकिन मुंबईकरों को अभी भी सतर्क रहने और सावधानी बरतने की जरूरत है। लापरवाही बिल्कुल न करें वैक्सीन ले, कोविड नियमों का पालन करें।

    - डॉ. ओम श्रीवास्तव, सदस्य कोविड टास्क फोर्स एंव संक्रमण रोग विशेषज्ञ

    22 वार्ड कोरोना मुक्त

    मुंबई में कुल 24 वार्ड है। एक समय इन वार्ड के स्लम में कोरोना ने खूब आतंक मचाया था, लेकिन अब 22 वार्ड के स्लम कोरोना मुक्त हो गए हैं। जबकि एम ईस्ट यानी गोवंडी में 3 स्लम और आर दक्षिण यानी कांदिवली में 2 स्लम कंटेंमेंट जोन में है। बाकी अन्य सभी वार्ड के स्लम कोरोना मुक्त हो गए है।

    13 वार्ड की इमारतें कोरोना मुक्त

    मुंबई के 24 वार्ड में से 13 वार्ड के इमारतें कोरोना मुक्त हो गई हैं। वार्ड ए, बी, सी, टी, आर दक्षिण, आर उत्तर, आर मध्य, पी दक्षिण, पी उत्तर, एल वार्ड, के पूर्व, एच पूर्व, एफ नार्थ वार्ड में एक भी इमारत कोरोना के कारण सील हुई हैं। मुंबई में फिलहाल 54 इमारतें सील हैं।