पोस्ट कोविड मरीजों के इलाज में नेस्को अव्वल

मुंबई. गोरेगांव (Goregaon) के नेस्को (Nesco) जंबो सेंटर पोस्ट कोविड मरीजों (post covid patients) के इलाज (treatment) में अव्वल साबित हो रहा है. अभी कुछ  दिन पहले ही यहां पर पोस्ट कोविड ओपीडी सेवा शुरू की गई है. जिसमें बड़ी संख्या में पोस्ट कोविड मरीज आकर उपचार करवा रहे हैं.  

कोरोना वायरस से मुक्त होने के बाद कोविड मरीजों को दूसरी कई बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं. कोरोना वायरस का फेफडों पर सबसे ज्यादा नुकसान होते देखा गया है. इससे मरीज को सांस में लेने में परेशानी, कमजोरी और नींद नहीं आना,  भूख कम लगने की समस्या से ग्रसित हो रहे हैं. मरीज इन बीमारियों की शिकायतें लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं.  

 डिप्रेशन का शिकार हो रहे लोग

जंबो कोविड सेंटर (Jumbo Covid Center) की प्रभारी डॉ. नीलम आंद्राडे (Dr. Neelam Andrade incharge)ने बताया कि पोस्ट कोविड ओपीडी (OPD) शुरु होने के पहले मरीजों की संख्या कम थी, लेकिन बाद में बढ़ते गए. उन्होंने बताया कि लोग डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं. उनका सेंटर में ऑनलाइन ट्रीटमेंट दिया जाता है. प्रत्येक सेशन 45 मिनट का होता है इसका मरीजों को काफी फायदा हुआ है.  यहां मरीजों के लिए योग शिविर का भी आयोजन होता है. जो मरीज 20 से 25 दिनों से बेड पर हैं , जिन्हें थकान और चलने में दिक्कत होती है ऐसे लोगों के लिए यह सेशंस काफी फायदेमंद साबित हो रहे हैं. कोविड सेंटर में सुविधा को देखते हुए मुंबई ही नहीं राज्य के अन्य हिस्सों से आए मरीजों का भी इलाज किया जा रहा है.

अब तक 10047 मरीजों का उपचार 

डॉ. आंद्राडे ने बताया कि अब तक 10047 मरीजों का उपचार किया गया है. इसमें से  8584 मरीज कोरोना को मात देकर डिस्चार्ज हो चुके हैं. यहां कोरोना मरीजों के लिए आईसीयू की सुविधा भी है, जिसमें अब तक 393 मरीजों का इलाज हो चुका है. नेस्कों में ही कोरोना की वॉइस टेस्टिंग  की गई थी  जिसे बाद में इजराइल भेजा गया था. वर्तमान में 145 मरीज भर्ती है जिनका इलाज चल रहा है. जिसमें से 16 मरीज  आईसीयू में हैं.