Registration of houses in Mumbai increased by 53 percent in the year 2021
File

    नई दिल्ली: मुंबई महानगर क्षेत्र (Mumbai Metropolitan Region) (एमएमआर) (MMR) में घरों का पंजीकरण (Registration Of Houses) 2021 में इससे पिछले साल के मुकाबले 53 प्रतिशत बढ़कर 2.42 लाख इकाई हो गया। एक रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) द्वारा स्टाम्प शुल्क घटाने और आवास ऋण की ब्याज दरों में कमी से मकानों की बिक्री को बढ़ावा मिला।

    उद्योग निकाय क्रेडाई-एमसीएचआई, रियल एस्टेट कंसल्टेंट कोलियर्स इंडिया और डेटा विश्लेषण फर्म सीआरई मैट्रिक्स ने सोमवार को अपनी संयुक्त रिपोर्ट ‘एमएमआर हाउसिंग अपटिक एडेड बाय सपोर्ट’ जारी की। रिपोर्ट के मुताबिक, कैलेंडर वर्ष 2021 में 2,42,061 आवासीय संपत्तियों का पंजीकरण हुआ, जबकि यह आंकड़ा 2020 में 1,58,327 इकाई और 2019 में 2,01,613 इकाई था।

    सीआरई मैट्रिक्स के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अभिषेक किरण गुप्ता ने कहा कि पंजीकृत संपत्तियों का कुल मूल्य पिछले साल 1.9 लाख करोड़ रुपये रहा, जबकि 2020 में यह आंकड़ा 1.12 लाख करोड़ रुपये और 2019 में 1.29 लाख करोड़ रुपये था। क्रेडाई-एमसीएचआई के भावी अध्यक्ष बोमन ईरानी ने कोविड-19 महामारी के बीच रियल एस्टेट क्षेत्र को समय पर मदद देने के लिए सरकार का आभार जताया।