school
File Pic

    मुंबई: राज्य के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सोमवार से स्कूल खुल सकते हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ (Minister Varsha Gaikwad) ने कहा कि स्कूल शुरू (Schools Open) करने का प्रस्ताव (Proposal) स्कूल शिक्षा विभाग ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) को मंजूरी के लिए भेजा है। स्कूल शुरू करने को लेकर अंतिम निर्णय गुरुवार को होने वाली कैबिनेट की मीटिंग (Cabinet Meeting) लिया जाएगा।

    शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे विभिन्न संगठन, संस्थाएं, विद्यार्थियों और अभिभावकों ने उन जगहों पर स्कूल शुरू करने की मांग कर रहे है जहां कोरोना का प्रकोप नहीं है। इस मांग को संज्ञान में लेते हुए शिक्षा विभाग की ओर से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सौंपे गए प्रस्ताव में कहा गया है कि जिला अधिकारी और महानगरपालिका आयुक्त को विद्यालय की समीक्षा के बाद उसे शुरू करने का अधिकार दिया जाए। 

    हो रही है ऑनलाइन पढ़ाई

    प्रस्ताव में यह भी सिफारिश की गई है कि स्कूल में टीकाकरण की आवश्यकता पर बल देते हुए 15 से 18 वर्ष के बीच के स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों को स्कूल में टीका लगाया जाना चाहिए और स्थानीय प्रशासन को उन शिक्षकों और गैर-शिक्षण कर्मचारियों का टीकाकरण करने के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए, जिन्होंने अभी तक वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं ली है। कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के कारण 3 जनवरी से स्कूलों को बंद कर दिया गया था। हालांकि ऑनलाइन शिक्षा की सीमाओं के कारण, राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों को शैक्षिक नुकसान हो रहा है। इसलिए शिक्षा विभाग ने विद्यार्थियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए सोमवार से स्कूल शुरू करने का प्रस्ताव रखा है।

    क्या मुंबई में भी खुलेंगे स्कूल?

    बीएमसी कमिश्नर इकबाल चहल ने कहा कि 27 जनवरी से मुंबई में स्कूल शुरू करने की योजना है। मुंबई में पिछले कुछ दिनों से कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आ रही है। इसलिए बीएमसी फिर से स्कूल शुरू करने की योजना बना रही है। चहल ने कहा कि अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।

    मंत्री आदित्य ठाकरे ने दिए संकेत

     

    मुंबई में भी जल्द स्कूल शुरू हो सकते हैं। इस बात का संकेत खुद उपनगर के पालक मंत्री आदित्य ठाकरे ने दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बीएमसी और राज्य टास्क फोर्स के विशेषज्ञों के साथ आज सुबह एक समीक्षा बैठक में हमने 15-18 वर्ष के बच्चों के लिए टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा की, साथ ही कोविड के कम होते केसेस को देखते हुए जल्द से जल्द शैक्षिक संस्थानों को सुरक्षित रूप से खोलने की हमारी तैयारी को लेकर भी चर्चा की।