Street light mana will conduct survey for the first time

    नागपुर. एकजुटता की ताकत क्या होती है, ये गोरेवाड़ा की जनता ने उस समय साबित कर दिया जब मेन रोड पर 11 से अधिक नये इलेक्ट्रिक खंभों पर स्ट्रीट लाइट नहीं लगाये जा रहे थे लेकिन पिछले 6 महीनों से स्थानीय नागरिकों द्वारा अलग-अलग तरह से किये गये आंदोलनों व विरोध प्रदर्शनों के बाद आखिर संबंधित विभाग ने इन खंभों पर भी एलईडी बल्ब लगवा ही दिये. 

    अगली लड़ाई मेन रोड का बेहतर निर्माण

    गोरेवाड़ा की जनता का नेतृत्व कर रहे आंनद तिवारी ने कहा कि ये जागरूक नागरिकों की जीत है. यह सड़क हमेशा अंधेरे में डूबी रहती है. पास ही जंगली क्षेत्र है. रात को हमेशा जंगली जानवरों को खतरा बना रहता है. सड़क के गड्ढे भी अंधेरे में दिखाई नहीं देते. हर दिन छोटी-मोटी दुर्घटना होती रहती है लेकिन देर आये, दुरुस्त आये. स्ट्रीट लाइटें शुरू होने के बाद जंगली जानवरों से बचाव की उम्मीद जगेगी. साथ ही मेन रोड के गड्ढे स्ट्रीट लाइट की रोशनी में रात को साफ-साफ दिखाई देंगे.

    इसलिए गोरेवाड़ा की जनता का अगला लक्ष्य मेन रोड को गड्ढा मुक्त कराना है. इस दौरान भीमराव सोनेकर, प्रीति ठाकुर, किरण गेडाम, ईशान मेश्राम, जय नायर, राजेश ठाकुर, शिवबाबू त्रिपाठी, बृजेश ठाकुर, प्रवीण जामगडे, रामकृष्ण भक्ते, योगेश मुले, प्रवीण गेडाम, मगेश लांजेवार, मनीष ठाकुर, अमित लांजेवार आदि उपस्थित थे.