ACCIDENT
File Pic

    निफाड़ : निफाड़-पिंपलगांव (Niphad-Pimpalgaon) रस्ते पर मटन मार्केट के पास रात को दो ट्रॉलीयों (Trolleys) को जोड़ कर गन्ने (Sugarcane) की यातायात करने वाले ट्रैक्टर ने (क्र.एम.एच.-15/बी.यू.-810) टक्कर मारने से सूर्यभान गोपाल पवार (60) की मौत हुई। ट्रैक्टर चालक के खिलाफ निफाड़ पुलिस स्टेशन (Niphad Police Station) में प्रकरण दर्ज किया गया है, लेकिन इस घटना से एक ट्रैक्टर को दो ट्रॉली जोड़ कर गन्ना यातायात का ‘जुगाड़’ रोकने का प्रश्न फिर से एक बार सामने आया है। शहर के निफाड़-पिंपलगांव और  निफाड़-नासिक, निफाड़-येवला मार्ग पर एक ट्रैक्टर से दो ट्रॉली के माध्यम से गन्ने की यातायात करने का प्रकार खुलेआम शुरू है, लेकिन स्थानीय यातायात पुलिस, आरटीओ विभाग इस ओर नजर अंदाज करने के कारण पवार की मौत होने का आरोप परिसर के किसानों ने किया है। वर्तमान में रानवड और निफाड़ यह दो शक्कर कारखाना बंद होने से किसान संगमनेर, कोलपेवाडी, कादवा आदि कारखानों को गन्ना दिया है। वर्तमान में गन्ने की कटाई चल रही है, इसलिए रस्ते पर गन्ना यातायात करने वाले वाहनों की कतार लग रही है। सार्वजनिक सड़कों पर एक ट्रैक्टर को दो ट्रॉली जोड़ कर चलाना अवैध होने के बावजूद इसे पुलिस और आरटीओ अधिकारी नजर अंदाज कर रहे है। परिणामस्वरूप कई दुर्घटनाएं हो रही है। इस ट्राली में प्रत्येकी 10 से 12 टन गन्ना होता है, अर्थात दो ट्राली में 22 टन गन्ने की यातायात हो रही है। 

    साप्ताहिक हाट से थरारक यातायात

    सूरत-शिर्डी अर्थात निफाड़-पिंपलगाव मार्ग पर निफाड़ के वैनतेय विद्यालय से पूराने सरकारी दवाखाना मार्ग पर सड़कों के दोनों किनारों पर हाट लगता है।  शाम पाच बजे के बाद इस हाट में ग्राहकों सहित स्कूल, कोर्ट छुटने के बाद तोबा भीड़ होती है। इसके बावजूद इस भीड़ को नजर अंदाज करते हुए ट्रैक्टर के माध्यम से गन्ने की यातायात हो रही है। इससे भविष्य में बड़ी दुर्घटना होने की अशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। 

    वाहनधारकों की जान को खतरा

    दो ट्राली जोड़ने वाले ट्रैक्टर को पिछे से आने वाले वाहन धारक को ओवरटेक करते समय समस्या होती है। कई बार दुर्घटनाएं होती है। दो ट्राली का वजन 20 टन से अधिक होने से गतिरोधक पार करते समय दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है। निफाड़ रेल स्टेशन के गेट के पास भयंकर गडढ़े है, जहा पर दो दिनों पूर्व गन्ना लेकर जाने वाली ट्राली को दुर्घटना हुई थी। कई घंटों तक यातायात ठप्प हुई थी। 

    शुक्रवार को बंद रखें यातायात

    शुक्रवार को निफाड़ शहर में साप्ताहिक हाट लगता है। गन्ने की खतरनाक यातायात बाजार से होती है। इसलिए कम से कम शुक्रवार को बाजार से गन्ने की यातायात बंद रखने की मांग शहर के कारोबारी और नागरिक कर रहे है। 

    ‘आरटीओ’ की लापरवाही

    गन्ने की अवैध यातायात करते समय उस पर नियंत्रण रखने की जिम्मेदारी आरटीओ विभाग की है, लेकिन उनकी लापरवाही दुर्घटनाओं को आमंत्रित कर रही है। निफाड़ पुलिस स्टेशन के माध्यम से गन्ना यातायात करने वाले ट्रैक्टर को रेडियम लगाने की सूचना करने के बावजूद उस पर अमल नहीं किया जा रहा है।  इसलिए संबंधित ट्रैक्टर मालिकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग ग्रामीण कर रहे है।