vipin Sharma

पुणे. महापालिका अतिरिक्त आयुक्त डॉ. विपीन शर्मा की बदली ठाणे महापालिका आयुक्त के तौर पर हो गई है. इस वजह से  महापालिका का तीसरा आयुक्त पद पुन: रिक्त हो गया है. इस पर फिर एक बार मनपा के अधिकारी को इस पद पर जाने का अवसर मिल गया है. इसमें अब राज्य सरकार की भूमिका महत्वपूर्ण है.

1 साल का प्रशिक्षण लेने विदेश गए थे

डॉ. शर्मा एक साल के प्रशिक्षण के लिए विदेश गए थे, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते उन्हें  प्रशिक्षण छोड़कर बीच में ही लौटना पड़ा था. जून के पहले हफ्ते में शर्मा पुणे पहुंचे थे. 14 दिन के क्वारंटाइन के बाद शर्मा मनपा में आनेवाले थे. लेकिन उन्हें केंद्र सरकार का कोई आदेश नहीं मिला था. तकनीकी प्रक्रिया में यह मामला अटका हुआ था. ऐसे में अब राज्य सरकार ने उनका तबादला किया है. उन्हें ठाणे मनपा के आयुक्त पद का जिम्मा सौंप दिया है. ऐसी जानकारी प्रशासन द्वारा दी गई.

मनपा अधिकारियों को फिर अवसर

ज्ञात हो कि महापालिका में दो अतिरिक्त आयुक्त काम कर रहे थे. इसमें  रूबल अग्रवाल (अतिरिक्त आयुक्त,जनरल) व राजेंद्र निंबालकर (अतिरिक्त आयुक्त, विशेष) का समावेश था. हाल ही में सरकार ने तीसरा अतिरिक्त आयुक्त नियुक्त करने के लिए मंजूरी दी थी, लेकिन यह अधिकारी महापालिका का होगा, ऐसा भी सरकार द्वारा कहा गया था. लेकिन अभी तक तीसरा अतिरिक्त आयुक्त महापालिका को नहीं मिल पाया था. मनपा अधिकारियों में इसके लिए रस्साकस्सी चल रही थी. लेकिन सरकार ने महापालिका को तीसरा अतिरिक्त आयुक्त दिया था. जो मनपा का नहीं था.

महाराष्ट्र ऊर्जा विकास अभिकरण यानी महाऊर्जा यानी मेडा के महानिदेशक(डीजी) डॉ. विपीन शर्मा अब महापालिका के अतिरिक्त आयुक्त के तौर पर नियुक्त किया था. इससे मनपा अधिकारियों पर सपने पर पानी फेरा था. लेकिन बाद में निंबालकर के तबादले से ये अवसर बढ़ गए थे. लेकिन इस अवसर पर भी सरकार ने शान्तनु गोयल को नियुक्त किया था. इस वजह से मनपा के अधिकारियों को इस पर अवसर नहीं मिला था. अब फिर एक बार इस पद के लिए मनपा अधिकारियों को अवसर मिला है.