NCP protest against Kangana Ranaut in Pune

    पुणे: अभिनेत्री कंगना रनौत (Actress Kangana Ranaut) ने देश की स्वतंत्रता को लेकर दिए विवादित बयान के खिलाफ पुणे (Pune) में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने आंदोलन (Protest) किया। रनौत के इस विवादित बयान पर एनसीपी के कार्यकर्ताओं ने जंगली महाराज रोड स्थित झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा पर धरना दिया और जमकर नारेबाजी की।

    उल्लेखनीय हैं की अभिनेत्री कंगना रनौत ने एक कार्यक्रम के दौरान देश की स्वतंत्रता को लेकर एक विवादित बयान दिया हैं। रनौत ने कहा था कि देश को स्वतंत्रता भीख में मिली थी सही मायने में स्वतंत्रता 2014 में मिली है। इस बयान को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने कंगना रनौत के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आंदोलन किया। 

    आजादी के लिए कई नेताओं ने किया कड़ा संघर्ष

    इस आंदोलन में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के शहर अध्यक्ष प्रशांत जगताप, प्रवक्ता प्रदीप देशमुख, पार्षद सचिन डोडके, महिला शहर अध्यक्ष मृणालिनी वाणी, युवती शहर अध्यक्ष सुषमा सतपुते, युवती प्रदेश महासचिव पूजा झोले, कार्यकारी अध्यक्ष और श्रुति गायकवाड़  शामिल हुए। जगताप ने कहा कि भारत को गुलामी से आजाद कराने के लिए भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर आजाद जैसे क्रांतिकारियों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। महात्मा गांधी जी, डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर और नेताजी सुभाष चंद्र बोस जैसे महान नेताओं ने कड़ा संघर्ष किया। हालांकि, केवल तानाशाही के प्रति वफादारी के लिए पद्म श्री पुरस्कार जीतने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत ने देश की आजादी के लिए शहीद हुए वीरों का अपमान करने वाला बयान देकर कहा है कि देश को आजादी नहीं, 1947 में भीख मिली थी।