Fraud
Representational Pic

    पिंपरी : राज्य सूक्ष्म, लघु, मध्यम मंत्रालय की समिति का निदेशक पद दिलाने का झांसा देकर एक डॉक्टर (Doctor) के साथ एक करोड़ छह लाख रुपए की ठगी किए जाने का मामला पिंपरी चिंचवड़ (Pimpri Chinchwad) में सामने आया है। 20 सितंबर 2020 से 26 नवंबर के बीच पिंपरी चिंचवड़ और मुंबई में यह घटना घटी। इस मामले में मंत्रालय (Ministry Official) के अधिकारी समेत चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी (Cheating) का मामला दर्ज किया गया है।

    इस वारदात को लेकर डॉ. आदित्य दगडू पतकराव (36, कल्पतरू सोसायटी, जवलकरनगर, पिंपले गुरव, पुणे) ने सांगवी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। इसके अनुसार पुलिस ने विकास शिंदे (निवासी पनवेल, नवी मुंबई), राजाराम शिर्के (कक्ष अधिकारी, मंत्रालय, मुंबई), श्रेया चौहान (निवासी विकोली, मुंबई), अजित दुबे (निवासी नवी मुंबई) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

    मंत्रालय की समिति का निदेशक बनाने का झांसा दिया

    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आरोपियों ने आपस में मिली भगत कर शिकायतकर्ता डॉक्टर को राज्य के सूक्ष्म, लघु, मध्यम मंत्रालय की समिति का निदेशक बनाने का झांसा दिया। इसके लिए उन्होंने एक करोड़ छह लाख रुपए भी लिए। इसके बाद उन्हें फर्जी नियुक्ति पत्र सौंपा गया। यह फर्जी पाए जाने के बाद उन्होंने शिकायत की तो आरोपियों ने टालमटोल की। इसके चलते उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। इसके अनुसार पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ सरकारी मुद्रा का फर्जी इस्तेमाल कर डॉक्टर के साथ धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज किया।