Municipality started preparations to restart the closed Dental Covid Hospital

    अंबरनाथ : केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा हाल ही में देश भर की विविध आयुध कारखानों (Ordnance Factories) के किए गए निगमीकरण का पहला झटका अंबरनाथ नगर पालिका (Ambernath Municipality) को लगा है। आयुध निर्माणी परिसर स्थित कम्युनिटी हॉल (Community Hall) में स्थानीय नगर पालिका द्वारा चलाए जा रहे 40 बिस्तरों वाले कोविड अस्पताल और टीकाकरण केंद्र को बंद करने के संबंध में अंबरनाथ नगर पालिका को पत्र भेजकर कहा गया है कि 

    इसलिए नगर पालिका को दोबारा डेंटल कोविड अस्पताल के भवन पर निर्भर रहना पड़ेगा। नगर पालिका ने पिछले महीने ही डेंटल कोविड अस्पताल को बंद किया था लेकिन आयुध निर्माणी द्वारा कोविड अस्प्ताल और कोविड टीकाकरण केंद्र को स्थलांतरित करने को लेकर दिए गए पत्र के कारण अब स्थानीय नगर पालिका ने एक बार फिर से  डेंटल कोविड अस्पताल में ही 30 बेड और टीकाकरण केंद्र स्थापित करने के लिए कदम उठाए है। अंबरनाथ शहर में कोरोना मरीजों की घटती संख्या को देखते हुए नगर पालिका ने 700 बेड के डेंटल कोविड अस्पताल को बंद करने का फैसला लिया था। साथ ही प्रभावित मरीजों के इलाज के लिए अंबरनाथ नगर पालिका ने वैकल्पिक आपातकालीन सुविधा के रूप में अंबरनाथ आयुध निर्माणी के सामुदायिक हॉल में 40 बिस्तरों वाला अस्पताल शुरू किया था। हालांकि केंद्र सरकार ने आयुध निर्माणियों का निगमीकरण कर दिया है। 

    सामुदायिक हॉल कर्मचारियों के  पारिवारिक कार्यक्रमों के लिए 

    नतीजतन यहां का प्रबंधन भी बदल गया है। हालांकि इस बदले हुए प्रबंधन का पहला झटका अंबरनाथ नगर पालिका को लगा है। निर्माणी परिसर में जहां नगर पालिका ने कोविड अस्पताल और टीकाकरण केंद्र शुरू किया है। वह हॉल सामुदायिक कार्यक्रमों के  उपयोग के लिए है। इसलिए संस्थान में कार्यरत कर्मचारियों के  पारिवारिक कार्यक्रमों के साथ-साथ कर्मचारियों के लिए आयोजित अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए एक सामुदायिक हॉल की आवश्यकता होगी। इस संबंध में आयुध निर्माणी प्रबंधन ने नगर पालिका को पत्र भेजकर कोविड अस्पताल और टीकाकरण केंद्र को बंद करने का आदेश दिया है। 

    डेंटल कोविड अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए 30 बेड की सुविधा  

    आयुध निर्माणी प्रशासन से प्राप्त पत्र को गंभीरता से लेते हुए  नगर पालिका के मुख्याधिकारी डॉ. प्रशांत रसाल और नोडल अधिकारी डॉ.  नितिन राठौर ने गुरुवार से कोविड अस्पताल और टीकाकरण केंद्र को स्थानांतरित करने के लिए कोशिशे शुरू कर दी है। नगर पालिका ने शहर के प्रभावित कोरोना मरीजों के लिए बंद किए गए डेंटल कोविड अस्पताल में 30 बेड का कोविड अस्पताल शुरू करने का फिर से निर्णय लिया है। नगर पालिका के मुख्याधिकारी डॉ. प्रशांत रसाल ने स्थानीय पत्रकारों को बताया कि डेंटल कोविड अस्प्ताल में ही एक दो दिन में नागरिकों के लिए एक नया टीकाकरण केंद्र शुरू किया जा रहा है जिससे लोगों को सुविधा उपलब्ध होगी।